सामान्य उत्पादन की तुलना में अधिक दर्ज की गई कषि वर्ष 2019-20 के लिए फसलों की पैदावार

» वर्ष 2019-20 के लिए प्रमुख खरीफ फसलों की पैदावार के प्रथम अग्रिम अनुमान।



कृषि, सहयोग एवं किसान कल्याण विभाग ने सोमवार को वर्ष 2019-20 के लिए प्रमुख खरीफ फसलों की पैदावार के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किए। विभिन्न फसलों की पैदावार का आकलन राज्यों से प्राप्त जानकारियों (फीडबैक) पर आधारित है और अन्य स्रोतों से प्राप्त सूचनाओं से इसका सत्यापन भी कर लिया गया है। वर्ष 2005-06 से लेकर बाद के वर्षों के लिए तुलनात्मक अनुमानों के सापेक्ष वर्ष 2019-20 के प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार विभिन्न फसलों की अनुमानित पैदावार के आंकड़े यहां संलग्न किए गए।


प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार खरीफ सीजन 2019-20 के दौरान प्रमुख फसलों की अनुमानित पैदावार का विवरण नीचे दिया गया है:


> खाद्यान्न-140.57 मिलियन टन


० चावल - 100.35 मिलियन टन


० पोषक तत्व / मोटे अनाज- 32.00 मिलियन टन


० मक्का - 19.89 मिलियन टन


० दालें – 8.23 मिलियन टन


० तूर (अरहर) – 3.54 मिलियन टन


> तिलहन-22.39 मिलियन टन


० सोयाबीन – 13.50 मिलियन टन


० मूंगफली - 6.31 मिलियन टन


> कपास-32.27 मिलियन गांठे (प्रत्येक 170 किलो)


> जूट एवं मेस्ता - 9.96 मिलियन गांठे (प्रत्येक 180 किलो)


> गन्ना-377.77 मिलियन टन



इस वर्ष दक्षिण-पश्चिम मानसून सीजन के दौरान सितंबर के माध्य तक कुल वर्षा लम्बी अवधि के औसत (एलपीए - लॉग पीरियड एवरेज) की तुलना में 4 प्रतिशत अधिक आंकी गई है। कृषि वर्ष 2019-20 के लिए ज्यादातर फसलों की पैदावार उनके सामान्य उत्पादन की तुलना में अधिक दर्ज की गई है। हालांकि, राज्यों से प्राप्त होने वाली और ज्यादा जानकारियों के आधार पर इन अनुमानों में संशोधन किया जाएगा। वर्ष 2019-20 (केवल खरीफ) के लिए प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन 140.57 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। वर्ष 2019-20 के दौरान कुल पैदावार पिछले पांच वर्षों (2013-14 से लेकर 2017-18 तक) में दर्ज किए गए औसत खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 8.44 मिलियन टन अधिक है।


वर्ष 2019-20 के दौरान खरीफ चावल का कुल उत्पादन 100.35 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के 93.55 मिलियन टन के औसत उत्पादन से 6.80 मिलियन टन अधिक है।


वर्ष 2019-20 के दौरान खरीफ सीजन के पोषक तत्वों/मोटे अनाजों का कुल उत्पादन 32.00 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह वर्ष 2018-19 के 30.99 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 1.01 मिलियन टन अधिक है।


वर्ष 2019-20 के दौरान खरीफ दलहन का कुल उत्पादन 8.23 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के 7.23 मिलियन टन के औसत उत्पादन से 1.00 मिलियन टन अधिक है।


वर्ष 2019-20 के दौरान खरीफ तिलहन का कुल उत्पादन 22.39 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया हैयह वर्ष 2018-19 के 21.28 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 1.11 मिलियन टन अधिक है। इतना ही नहीं, वर्ष 2019-20 के दौरान तिलहन उत्पादन इसके औसत उत्पादन से भी 2.17 मिलियन टन ज्यादा है।


वर्ष 2019-20 के दौरान कुल गन्ना उत्पादन 377.77 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। वर्ष 2019-20 के दौरान गन्ना उत्पादन 349.78 मिलियन टन के औसत गन्ना उत्पादन से 27.99 मिलियन टन अधिक है।


वर्ष 2019-20 के दौरान कपास उत्पादन 32.27 मिलियन गांठे (प्रत्येक 170 किलो) होने का अनुमान लगाया गया है, जो वर्ष 2018-19 के 28.71 मिलियन गांठों के उत्पादन की तुलना में 3.56 मिलियन गांठे अधिक है। इसी तरह वर्ष 2019-20 के दौरान जूट एवं मेस्ता का उत्पादन 9.96 मिलियन गांठे (प्रत्येक 180 किलो) होने का अनुमान लगाया गया है, जो वर्ष 2018-19 में हुए उत्पादन की तुलना में ज्यादा है।