सीएम योगी से भारतीय विदेश सेवा के अधिकारियों ने भेंट की

> प्रदेश में आयोजित 15वां प्रवासी भारतीय दिवस अब तक के सबसे सफल आयोजनों में से एक।


> राज्य में होने वाले उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी विभिन्न देशों में स्थित भारतीय दूतावासों को भी भेजी जाए।



लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शनिवार को उनके सरकारी आवास पर भारतीय विदेश सेवा के अधिकारियों ने भेंट की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रदेश की विकास प्रक्रिया से जुड़ने का आह्वान किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह जिन देशों में तैनात हैं, वहां के निवेशकों और उद्यमियों को राज्य में आगामी फरवरी, 2020 में आयोजित हो रहे डिफेंस एक्सपो में सम्मिलित होने के लिए प्रोत्साहित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में होने वाले उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी विभिन्न देशों में स्थित भारतीय दूतावासों को भी भेजी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। वर्तमान राज्य सरकार इन्हें मूर्तरूप देने के लिए सतत् प्रयत्नशील है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली में ई-पॉस मशीनों के इस्तेमाल से 15 करोड़ वास्तविक लाभार्थियों को खाद्यान्न की उपलब्धता सुनिश्चित की है। इन मशीनों के प्रयोग से प्रदेश सरकार को लगभग 800 करोड़ रुपए की बचत भी हो रही है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने विगत ढाई वर्षों में 25 लाख आवास गरीब परिवारों को उपलब्ध कराए हैं। साथ ही, स्वच्छ भारत मिशन के तहत 02 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण कराया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वान्चल के गोरखपुर और बस्ती मण्डल जे0ई0/ए0ई0एस0 से गम्भीर रूप से प्रभावित रहते थे। राज्य सरकार के सतत् प्रयासों से इस बीमारी से होने वाली मृत्यु की दर में 90 प्रतिशत से अधिक की कमी आयी है। विगत ढाई वर्ष में राज्य निवेशकों और उद्यमियों के लिए आकर्षक गंतव्य बनकर उभरा है। इस अवधि में राज्य में 02 लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पर्यटन की असीम सम्भावनाएं हैं। प्रयागराज कुम्भ-2019 इसका बहुत बड़ा उदाहरण है। इस आयोजन में 24 करोड़ 56 लाख लोग सम्मिलित हुए 187 देशों के प्रतिनिधि इस आयोजन में आए। 72 देशों के राजदूतों ने कुम्भ परिक्षेत्र में अपने राष्ट्रीय ध्वज स्थापित किए। उन्होंने कहा कि कुम्भ के दौरान गंगा जी की निर्मलता और अविरलता ने श्रद्धालुओं और स्नानार्थियों को प्रभावित किया। इतने बड़े आयोजन में उपलब्ध कराए गए सुरक्षा, सुव्यवस्था और स्वच्छता के वातावरण की सभी ने प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आयोजित 15वां प्रवासी भारतीय दिवस अब तक के सबसे सफल आयोजनों में से एक है। यह सभी आयोजन उत्तर प्रदेश के अधिकारियों, कर्मचारियों की क्षमता से सम्भव हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग कॉरिडोर की स्थापना की कार्यवाही संचालित है। राज्य सरकार 640 कि0मी0 लम्बाई के एक नये एक्सप्रेस-वे की स्थापना भी कर रही है। इसके सर्वे का कार्य अपने अंतिम चरण में है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव नियुक्ति मुकुल सिंघल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद