स्पोर्ट्स इंडिया 2019 के समारोह में खेल एवं शारीरिक शिक्षा क्षेत्र के दिग्गजों को किया गया सम्मानित


नयी दिल्ली। फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया (पेफी) ने खेल एवं शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान देने वाले दिग्गजों को बुधवार को यहां एक समारोह में प्रतिष्ठित चौथे पेफी राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया। समारोह में मुख्य अतिथि सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल, विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर आरके गोयल वाइस चांसलर दिल्ली यूनिवर्सिटी ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च, मेजर जनरल दिलावर सिंह पूर्व डायरेक्टर जनरल नेहरू युवा केंद्र, डॉ एके उप्पल कार्यकारी अध्यक्ष पेफी, डॉ गुरदीप सिंह पूर्व संयुक्त सचिव भारतीय विश्वविद्यालय संघ और एके मिश्रा फील्ड जनरल मैनेजर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने प्रशिक्षकों और सं थाओं को पेफी पुरस्कारों से सम्मानित किया। इस बार चयन समिति ने पूरे देश से आये हुए आवेदनों में से 11 श्रेणियों में 28 लोगों और सं थाओं को इस पुरस्कार के लिए चयनित किया था। इस अवसर पर पेफी के सचिव डॉ पीयूष जैन भी मौजूद थे। यह पुरस्कार देश के उन चुनिंदा लोगों और सं थाओं को दिया जाता है जिन्होंने देश में शारीरिक शिक्षा और खेलकूद को आगे बढ़ाने में अहम योगदान दिया है और शारीरिक शिक्षा एवं खेल के क्षेत्र में समाज और देश के लिए प्रेरणा बने हैं। दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित स्पोर्ट्स इंडिया 2019 के दौरान हुए समारोह में खेल एवं शारीरिक शिक्षा क्षेत्र के दिग्गजों को सम्मानित किया गया। शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में डॉ जीपी गौतम, लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी रायपुर से डॉराजीव चौधरी और निजाम कॉलेज हैदराबाद के प्रिंसिपल डॉक्टर लक्ष्मीकांत राठौर को प्रदान किया गया। कोचिंग के क्षेत्र में डॉ अजमेर सिंह लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड बिहार के बास्केटबाल कोच देवाशीष बनर्जी को मिला। बेस्ट कोच अवार्ड जाने-माने कोच सुजीत मान एवं वीरेंदर सिंह (कुश्ती), प्रताप सिंह बिष्ट (बास्केटबाल) और मल्लिकार्जुन पुजारी (टेबल टेनिस) को दिया गया। डॉ जीपी गौतम बेस्ट फिजिकल एजुकेशन टीचर अवार्ड डॉ शौकत हुसैन (जम्मू कश्मीर), विनीता बलूनी, प्रवीण नागर, रीनू बिंद्रा (दिल्ली), डॉगीता सिंह सिसोदिया (मध्यप्रदेश), डॉ संतोषी सौलकर, संध्या सिंह, डॉ सागर नारखेडे (महाराष्ट्र), हरिहर पाण्डेय (झारखंड), सौरव गांगुली (पश्चिम बंगाल) एवं सुजा मेरी जॉर्ज (केरल) को प्रदान किया गया। शारीरिक शिक्षा में उत्कृष्ट शोध कार्य के लिए डॉ रोब्सन अवार्ड हिमाचल प्रदेश के डॉ अश्वनी कुमार और तमिलनाडु के डॉ मानिझागु को प्रदान किया गयाखेलों के क्षेत्र में नेतृत्व और उत्कृष्टता के लिए कोमल एवं वी के पाहुजा अवार्ड मुजफरनगर उत्तर प्रदेश के डॉ श्याम नारायण सिंह को प्रदान किया गया। डॉ पी एम जोसफ अवार्ड केटेगरी में सर्वश्रेष्ठ शारीरिक शिक्षा विश्वविद्यालय का पुरस्कार तमिलनाडु शारीरिक शिक्षा एवं खेलकूद विज्ञान विश्वविद्यालय, सर्वश्रेष्ठ कॉलेज देशबंधु कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय) एवं संत थॉमस कॉलेज केरल, सर्वश्रेष्ठ स्कूल बाल भारती नोयडा एवं वाई एस स्कूल पंजाब को दिया गया।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद