तीसरा टी-20 आज, सीरीज़ कब्जाने के इरादे से उतरेगा भारत

> वाशिंगटन सुंदर, दीपक चाहर, नवदीप सैनी से और बेहतर प्रदर्शन की अपेक्षा



बेंगलुरू।भारतीय क्रिकेट टीम आज अपने विजय अभियान को बरकरार रखते हुये दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां एम चिन्नस्वामी स्टेडियम में तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में जीत के साथ सीरीज़ कब्जाने के इरादे से उतरेगी। कप्तान विराट कोहली की भी कोशिश रहेगी कि वह अपने इंडियन प्रीमियर लीग की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के घरेलू मैदान पर अनुभव का फायदा उठाते हुये मेहमान टीम के खिलाफ जीत से तीन मैचों की सीरीज़ को 2-0 से अपने नाम कर लें। विराट की अगुवाई में भारत ने इससे पहले वेस्टइंडीज़ में 3-0 से टी-20 सीरीज़ जीती थी। धर्मशाला में पहला मैच बारिश से रद्द रहने के बाद भारत ने दूसरा मैच मोहाली में सात विकेट से जीता था और अब तीसरा मैच उसके लिये अहम हो गया है, वहीं दक्षिण अफ्रीकी टीम का मानना है कि भारतीय टीम चुनौतीपूर्ण है लेकिन उसे हराया जा सकता है और अगले मैच को जीत वह सीरीज़ बराबरी पर पहुंचा सकते हैं। ऐसे में मेज़बान टीम को इस बार अधिक मेहनत करनी होगी। मोहाली में भारतीय टीम के अनुभवी खिलाड़ियों शिखर धवन(40 रन) और कप्तान विराट (नाबाद 72 रन) की पारियों से टीम ने जीत सुनिश्चित की थी। ओपनर रोहित शर्मा के 12 रन पर सस्ते में आउट होने के बाद दिल्ली के इन दोनों बल्लेबाज़ों ने टीम को संभाला। लेकिन विकेटकीपर बल्लेब ज रिषभ पंत अहम समय चार रन बनाकर आउट हो गये। सीरीज़ शुरू होने से पहले भी कोच रवि शास्त्री पंत के शॉट्स चयन पर सवाल उठा चुके हैं। ऐसे में यह देखना होगा कि पंत अगले महत्वपूर्ण मैच में कप्तान का भरोसा जीत पाते हैं या प्रबंधन उन्हें बाहर बैठाता है। भारतीय टीम आस्ट्रेलिया में अगले वर्ष होने वाले आईसीसी टी-20 विश्वकपके मद्देनज़र अब फटाफट प्रारूप पर अधिक ध्यान लगा रही है और इसी दिशा में अपनी तैयारियों के चलते टीम में कई नये युवा खिलाड़ियों को मौका दिया गया है। पिछले मैच में वाशिंगटन सुंदर, दीपक चाहर, नवदीप सैनी की गेंदबाज़ी संतोषजनक रही थी और उनसे और बेहतर प्रदर्शन की अपेक्षा रहेगी। तेज़ गेंदबाज़ों दीपक और नवदीप ने मैच में दो और क्रमश: एक विकेट निकाला था और जसप्रीत बुमराह तथा भुवनेश्वर कुमार की अनुप िथति में दोनों गेंदबाज़ों का प्रदर्शन सराहनीय रहावहीं नियमित स्पिनर युजवेंद्र चहल और चाइनामैन कुलदीप यादव की गैर मौजूदगी में सुंदर का प्रदर्शन भी संतोषजनक रहा जिन्हें स्पिन गेंदबाज़ी में एक भावी विकल्प माना जा रहा है। टीम की बल्लेबाज़ी हालांकि अभी भी विराट पर काफी हद तक निर्भर दिख रही है जो मोहाली में शीर्ष स्कोरर थे। रोहित के 12 रन पर आउट होने के बाद कप्तान ने 52 गेंदों में चार चौके और तीन छक्के लगाकर नाबाद 72 रन की बढ़िया अर्धशतकीय पारी खेली थी और मैन ऑफ द मैच बने। दक्षिण अफ्रीका के कैगिसो रबादा, आंदिले फेलखलुकवायो, ड्वेन प्रिटोरियस जैसे गेंदबाज़ों के सामने रोहित, विराट और शिखर की तिकड़ी रन बनाने में सक्षम है जबकि निचले क्रम पर श्रेयस अय्यर और हार्दिक पांड्या अच्छे स्कोरर हैं। यदि पंत अगले मैच में वापसी कर पाते हैं तो मध्यक्रम को काफी मजबूती मिलेगी और इन तीनों अनुभवी बल्लेबाज़ों पर रन बनाने का दबाव भी कुछ कम होगा। वहीं निचले क्रम पर लेफ्ट आर्म स्पिनर ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा टीम के मजबूत खिलाड़ी हैं। नवनियुक्त कप्तान क्विंटन डी काक की अगुवाई में अफ्रीकी टीम भी सीरीज़ में हार टालने का पूरा प्रयास करेगी। उसके पास डेविड मिलर, रीज़ा हैंडरिक्स और खुद काक जैसे बढ़िया स्कोरर हैं जबकि रबादा जैसे गेंदबाज़ मौजूद हैं जो भारत को दबाव में ला सकते हैं।