भारतीय नौसेना का पहला प्रशिक्षण बेड़ा तंजानिया के दारेस्लाम और जंजीबार के दौरे पर


नई दिल्ली। भारतीय नौसेना की समुद्रपारीय तैनाती के अंग के रूप में पहला प्रशिक्षण बेड़ा 14 से 17 अक्तूबर, 2019 तक दारेस्लाम और जंजीबार का दौरा करेगा। इसके तहत भारतीय नौसेना पोत तीर, सुजाता और शार्दुल तथा भारतीय तटरक्षक पोत सारथी इसमें हिस्सा लेंगे। इस दौरे में भारतीय पोत 14 अक्तूबर, 2019 को दारेस्लाम में और 15 से 17 अक्तूबर, 2019 को जंजीबार में लंगर डालेंगे। प्रथम प्रशिक्षण बेड़े के वरिष्ठ अधिकारी कैप्टन वरुण सिंह हैं, जो आईएनएस तीर के भी कमान अधिकारी हैं। दक्षिणी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ के अधीन भारतीय नौसेना का पहला प्रशिक्षण बेड़ा कोच्चि में स्थित है। यह भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक सहित मित्र देशों के अफसर कैडेटों को प्रशिक्षण देता है। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में सीमैनशिप, नेवीगेशन, शिप-हैंडलिंग, बोट-वर्क और इंजीनियरिंग का प्रशिक्षण शामिल है, जो आईटीएस पोतों पर दिया जाता है। इसके अलावा पोत संचालन का प्रशिक्षण आईएनएस तरंगिणी और आईएनएस सुदर्शनी पर प्रदान किया जाता है। अपने दौरे में प्रथम प्रशिक्षण बेड़े के वरिष्ठ अधिकारी, तंजानिया सरकार तथा तंजानिया जन-सुरक्षा बलों के अधिकारियों और विभिन्न विशिष्टजनों से मुलाकात करेंगे। सहयोग बढ़ाने के लिए तंजानिया जन-सुरक्षा बलों के साथ बातचीत की भी योजना है। उल्लेखनीय है कि तंजानिया और भारत के बीच पारम्परिक गहरे और मैत्रिपूर्ण संबंध हैं और दोनों देश लोकतंत्र तथा विकास के साझा मूल्यों पर सहयोग करते हैं। दोनों देशों के बीच नियमित रूप से उच्च स्तरीय आदान-प्रदान और बातचीत होती रहती है, जिनमें द्विपक्षीय रक्षा सहयोग शामिल है। भारतीय नौसेना के पोत मित्र देशों के साथ अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मजबूत करने के लिए नियमित रूप से ऐसे दौरे किया करते हैं।



Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात्रि 10 बजे से प्रातः 06 बजे तक प्रभावी रखा जाए : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया