नए भारत के निर्माण में प्रवासी भारतीयों की सहायता और सहयोग की है आवश्यकता: कोविंद


  • राष्ट्रपति ने फिलीपींस में भारतीय समुदाय को संबोधित किया और नवाचार, निवेश, अनुसंधान और शिक्षा में आज भारत द्वारा प्रदान किए जा रहे अवसरों का लाभ उठाने का आह्वान किया।



मनीला(फिलीपींस)। राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद फिलीपींस के मनीला में 20 अक्टूबर को भारत के राजदूत श्री जयदीप मजूमदार द्वारा आयोजित भारतीय समुदाय स्वागत समारोह में शामिल हुए। उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि फिलीपींस में भारतीय समुदाय दशकों से दोनों देशों के बीच दोस्ती का मजबूत बंधन है। पिछले कुछ वर्षों में प्रवासी भारतीयों की संख्या में उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है। ये सभी लोग फिलीपींस की अर्थव्यवस्था और समाज में भारत और भारतीयों की छवि को बढ़ावा देने में योगदान दे रहे हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि नए भारत का निर्माण करने के हमारे प्रयासों में हमें प्रवासी भारतीयों की सहायता और सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने नवाचार, निवेश, अनुसंधान और शिक्षा में आज भारत द्वारा प्रदान किए जा रहे अवसरों का लाभ उठाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया, गंगा संरक्षण परियोजना, स्वच्छ भारत मिशन, स्मार्ट सिटीज और जल जीवन मिशन जैसी प्रमुख पहलों में उनकी साझेदारी की जरूरत है। श्री कोविन्द ने कहा कि फिलीपींस में भारतीय कंपनियों के निवेश और उपस्थिति के रूप में भारत का द्विपक्षीय आर्थिक जुड़ाव बढ़ोतरी पर है। भारत-फिलीपींस व्यापार बढ़कर 2.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया है। हालांकि, हमारी तेजी से बढ़ती हुई दोनों अर्थव्यवस्थाओं के लिए द्विपक्षीय व्यापार की यह मात्रा अभी भी बहुत कम है। इसे और बढ़ाए जाने की जरूरत है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि भारतीय समुदाय की पहल और उद्यमता से हम दोनों देशों में समृद्धि लाने के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं। इससे पहले राष्ट्रपति ने शहर के मेयर और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में मरियम कॉलेज, क्विज़ोन शहर में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि महात्मा गांधी की यह आवक्ष प्रतिमा भारत के लोगों की ओर से आपके लिए एक उपहार है। महात्मा गांधी सभी लोगों, सभी संस्कृतियों और सभी समाजों से संबंध रखते हैं। वे शांति, सद्भाव और सभी के सतत विकास की हमारी साझा यात्रा में हमारा मार्गदर्शन करते रहें।



राष्ट्रपति, श्री राम नाथ कोविंद 20 अक्टूबर, 2019 को फिलीपींस के मनीला में क्विज़ोन शहर में, मिरियम कॉलेज में महात्मा गांधी की बस्ट का अनावरण करते हैं।


राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद का मरियम कॉलेज, क्विज़ोन सिटी में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा के अनावरण के अवसर पर संबोधन-


मैं फिलीपींस की यात्रा से बहुत प्रसन्न हूं। आपके देश और यहां के लोगों के साथ हमारे संबंध न केवल विशेष हैं, बल्कि हमारे दिलों के बहुत करीब भी हैं। यह एक दोस्ती है जिसकी हम हमेशा सराहना करते हैं और इसे संजो कर रखते हैं। इस वर्ष दुनिया ने शांति और अहिंसा के अग्रदूत महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाई। मैं आज बहादुर जोस रिजाल की भूमि फिलीपींस में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण करके सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं मरियम कॉलेज को अपने परिसर में महात्मा गांधी को सम्मान देने के लिए धन्यवाद देता हूं। महात्मा गांधी और जोस रिज़ाल दोनों ही शांति और अहिंसा की शक्ति में विश्वास करते थे। आपके राष्ट्रीय नायक के नाम पर नई दिल्ली में रखा गया मार्ग का नाम हमें लगातार प्रेरित और प्रोत्साहित करता है। मैं सेंटर फॉर पीस एजुकेशन में महात्मा के विरासत समारोह के इस अवसर की दिल से सराहना करता हूं। यह एक ऐसा केंद्र है जो शिक्षा और वकालत के माध्यम से शांति की संस्कृति को बढ़ावा देता है। इससे उपयुक्त कोई और स्थल नहीं हो सकता था। इसमें कोई संदेह नहीं है, आपके इस द्वार से उत्तीर्ण होने वाले छात्रों की पीढ़ियां महात्मा गांधी की विरासत से लगातार प्रेरित रहेंगी। यह प्रेरणा उन्हें आचरण में न्यायपूर्ण और नैतिक होने, सभी मनुष्यों के साथ व्यवहार में दयालु और विनम्र होने और कष्टकर समय में भी केवल सच्चाई के लिए खड़ा होना और उसकी हिमायत करने के लिए प्रेरित करेगी। फिलीपींस के प्रसिद्ध गायक ग्रेस नोनो द्वारा गाए गए मुझे महात्मा गांधी के पसंदीदा भजन - वैष्णव जन तो तेने कहिये ने भी मेरे मन को छू लिया है। इस वर्ष इस भजन को 150 से अधिक देशों में ऐसे व्यक्ति के लिए एक श्रद्धांजलि के रूप में गाया गया जिसने पूरी मानवता को एक अविभाजित परिवार के रूप में अपनाया था। इस भजन में एक अच्छे इंसान का वर्णन किया गया है जो दुख और तकलीफों से ग्रस्त लोगों तक पहुंचता है। वास्तव में दुनिया तभी एक बेहतर जगह होगी अगर हम एक दूसरे के प्रति सहानुभूति रखेंगे। महात्मा गांधी की यह आवक्ष प्रतिमा भारत के लोगों की ओर से आपके लिए एक उपहार है। महात्मा गांधी सभी लोगों, सभी संस्कृतियों और सभी समाजों से संबंध रखते हैं। वे शांति, सद्भाव और सभी के सतत विकास की हमारी साझा यात्रा में हमारा मार्गदर्शन करते रहें। मैं एक बार फिर से मरियम कॉलेज और उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहूंगा जिन्होंने इस विशेष कार्यक्रम के आयोजन में अपना योगदान दिया है। मैं कल फिलीपींस से प्रस्थान करूंगा, लेकिन आपकी गर्मजोशी और दोस्ती का खजाना सदैव मेरे पास रहेगा।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की