राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास और वित्त निगम की ओर से 8 लाख से ज्यादा लाभार्थियों को दी गई आर्थिक मदद: मुख्तार अब्बास नकवी


  • विभिन्‍न राज्‍यों के मदरसों से करीब 150 शिक्षकों को अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय द्वारा किया गया है प्रशिक्षित।

  • राष्‍ट्रीय अल्‍पसंख्‍यक विकास और वित्त निगम की रजत जंयती और वार्षिक सम्मेलन।

  • दूसरे हुनर हाट मेले की अल्पसंख्यक मंत्री ने की घोषणा, 1 नवंबर से प्रयागराज में लगेगा हुनर हाट।

  • देश में इस समय हैं 6 लाख पंजीकृत वक्‍फ संपत्तियां।



नयी दिल्‍ली। केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में भारत पूरे विश्व के लिए समावेशी विकास और साकारात्मक प्रगति का रोल मॉडल बन चुका है। सोमवार को एनएमडीएफसी (राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास और वित्त निगम) की रजत जंयती और वार्षिक सम्‍मेलन का उद्घाटन करते हुए श्री नकवी ने कहा कि जहां भारत अल्‍पसंख्‍यकों के लिए स्‍वर्ग के समान है वहीं दूसरी ओर पाकिस्‍तान अल्‍पसंख्‍यकों के लिए दोजख साबित हो रहा है। श्री नकवी ने कहा कि सरकार अल्‍पसंख्‍यकों समेत समाज के सभी जरूरतमंत वर्गों को किफायती और गुणवत्‍ता युक्‍त शिक्षा,रोजगार परक कौशल विकास और बुनियादी सुविधाएं देने के लिए युद्ध स्‍तर पर काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में एनएमडीएफसी 8 लाख 30 हजार से ज्‍यादा लाभार्थियों को विभिन्‍न स्‍टैंड अप,स्‍टार्ट अप और अन्‍य आर्थिक गतिविधियो के लिए 3 हजार करोड़ रूपए की आर्थिक मदद दे चुका है। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले दिन से ही अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय अल्‍पसंख्‍यकों के शैक्षिक और आर्थिक सशक्‍तिकरण के लिए प्रभावी तरीके से काम कर रहा है। मदरसों को देश की शिक्षा प्रणाली की मुख्‍य धारा से जोड़ने के लिए विभिन्‍न राज्‍यों के मदरसों से करीब 150 शिक्षकों को अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय द्वारा प्रशिक्षित किया गया है। जैन,पारसी, बौद्ध, इसाई, सिख और मुसलमान जैसे छह अधिसूचित अल्‍पसंख्‍यक समुदायों के 10 लाख से ज्‍यादा छात्रों को मेट्रिक पूर्व ,मेट्रिक बाद तथा प्रतिभा और आर्थिक स्थिति के आधार पर छात्रवृत्तियां दी गई हैं। उन्‍होंने कहा कि अगले पांच वर्षों में मंत्रालय 5 करोड़ से ज्‍यादा छात्रों को छात्रवृत्तियां देगा। पिछले पांच वर्षों में 3 करोड़ 18 लाख से ज्‍यादा छात्रों को यह लाभ दिया गया है जिसमें से 60 प्रतिशत छात्राएं हैं। श्री नकवी ने कहा कि अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय अगले पांच वर्षों में 100 हुनर हाट आयोजित करेगी। जिसमें हुनरमंद कारीगरों को रोजगार तथा बाजारों तक पहुंच की सुविधा दी जाएगी। मोदी सरकार-2 का पहला हुनर हाट जयपुर में लगाया गया था। अगला हुनर हाट 1 नवंबर से प्रयागराज में लगेगा। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि आने वाले समय में दिल्ली, गुरूग्राम, मुंबई, बेंगलूरु, चेन्‍नई, कोलकाता, लखनऊ, अहमदाबाद, देहरादून, पटना, इंदौर, भोपल, नागपुर, रायपुर, हैदराबाद, पुद्दुचेरी, चंडीगढ़, अमृतसर, जम्‍मू, शिमला, कोच्‍ची, गुवाहाटी, रांची, भुवनेश्‍वर, अजमेर और अन्‍य स्‍थानों पर लगाए जाएंगे। इन हाटों के माध्‍यम से पांच लाख हुनरमंद कारीगरों और दस्‍तकारों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। अल्‍पसंख्‍यक मंत्री ने कहा कि देश में वक्‍फ संपत्तियों का 100 फीसदी डिजीटलीकरण पूरा हो चुका है। देश में इस समय 6 लाख पंजीकृत वक्‍फ संपत्तियां हैं। उन्‍होंने कहा कि मंत्रालय के प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत देशभर में 100 कॉमन सर्विस सेंटर खोलने की मंजूरी दी गई है। इनके माध्‍यम से सरकार की कल्‍याणकारी योजनाओं के बारे में आम लोगों को जानकारी दी जाती है। इस कार्यक्रम के तहत पिछले पांच सालों में देश में 26 डिग्री कॉलेज, 1152 स्‍कूली इमारत, 40252 अतिरिक्‍त कक्षाएं, 506 छात्रावास, 71 कौशल विकास प्रशिक्षण केन्‍द्र, 52 पोलिटेकनिक, 39602 आंगनवाड़ी केन्‍द्र, 411 सद्भावना मंडप, 95 आवासीय स्‍कूल और 530 बाजार आदि का निर्माण करवाया गया है। समारोह के दौरान एनएमडीएफसी के कार्यक्रमो को लागू करने के लिए एनएमडीएफसी और जम्‍मू कश्‍मीर, उत्‍तर प्रदेश, त्रिपुरा, केरल और अन्‍य राज्‍यों के एससीए के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए गए ।



श्री नकवी एनएमफडीएफसी तथा जम्‍मू कश्‍मीर,लद्दाख , उत्‍तर प्रदेश सहित कई राज्‍यों के एससीए के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर होता देखते हुए। 


इस अवसर पर मंत्रालय के सचिव श्री शैलेश के अलावा कई वरिष्‍ठ अधिकारी मौजूद थे। इस मौके पर श्री नकवी ने एनएमएफडीएफसी की पत्रिका –यादें के विशेष संस्‍करण का विमोचन किया। उन्‍होंने सपनों को पंख नामकी पत्रिका भी जारी की। श्री नकवी ने इस मौके पर शहीद भगत सिंह सेवा दल,नयी दिल्‍ली का एक एंबुलेंस गाड़ी भेंट की। यह संगठन गरीबों और जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में एंबुलेस सेवा देता है।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की