उ0प्र0 विधान सभा एवं विधान परिषद के वर्तमान सत्र के सत्रावसान का प्रस्ताव स्वीकृत

> सतत विकास के लक्ष्यों की पूर्ति हेतु राज्य सरकार द्वारा विधान सभा एवं विधान परिषद के वर्तमान सत्र का तात्कालिक प्रभाव से सत्रावसान।



लखनऊ। मंत्रिपरिषद ने उत्तर प्रदेश विधान सभा एवं विधान परिषद के वर्तमान सत्र का सत्रावसान तात्कालिक प्रभाव से कराए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है। उत्तर प्रदेश विधान सभा एवं विधान परिषद का वर्तमान सत्र, जो दिनांक 02 अक्टूबर, 2019 के उपवेशन से प्रारम्भ हुआ था, दिनांक 03 अक्टूबर, 2019 तक हुए अनवरत उपवेशन की समाप्ति के पश्चात अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया है। वर्तमान सत्र में विधान मण्डल के दोनों सदनों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जयन्ती वर्ष के उपलक्ष्य में उनके विचारों, आदर्शों व नीतियों तथा संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा एजेण्डा 2030 के अन्तर्गत सतत विकास के लक्ष्यों को पूर्ण किए जाने की दिशा में राज्य सरकार की भूमिका, अद्यतन प्रगति व भावी रणनीति पर अनवरत चर्चा के उपरान्त विधान सभा में राष्ट्रपिता के उच्च आदर्शों का पालन करते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा निर्धारित सतत विकास के लक्ष्यों की पूर्ति हेतु राज्य सरकार द्वारा प्रभावी कदम उठाए जाने का प्रस्ताव पारित हुआ। इसके दृष्टिगत वर्तमान में विधान मण्डल से कोई कार्य कराया जाना शेष नहीं हैइसके दृष्टिगत उत्तर प्रदेश विधान सभा एवं विधान परिषद के वर्तमान सत्र का सत्रावसान तात्कालिक प्रभाव से कराए जाने का निर्णय लिया गया है।


Popular posts from this blog

माध्यमिक विद्यालयों को प्रान्तीयकृत किये जाने के सम्बन्ध में नीति निर्धारण

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात्रि 10 बजे से प्रातः 06 बजे तक प्रभावी रखा जाए : मुख्यमंत्री