वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने के साथ हो गई कश्मीर विकास यात्रा की शुरुआत: अमित शाह

→ ट्रेन के कोच स्वदेशी तौर पर चेन्नई रेल कोच फैक्ट्री में तैयार किए गए हैं।


→ दुनिया की श्रेष्ठ रेल परिवहन प्रौद्योगिकी के बराबर है 'वंदे भारत' एक्सप्रेस: अमित शाह


→ माता वैष्णो देवी का आशीर्वाद जम्मू कश्मीर के विकास को प्रेरणा देगा: पीयूष गोयल


→ भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को आधुनिक सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है: रेलवे बोर्ड अध्यक्ष



नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को नई दिल्ली-कटरा 'वंदे भारत' एक्सप्रेस को नई दिल्ली में हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्षवर्धन, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री, डॉ जितेंद्र सिंह, रेल राज्य मंत्री, सुरेश सी अंगदी, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव, रेलवे बोर्ड के अन्य सदस्य और उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक भी उपर थत थे। इस वर्ष फरवरी में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा नई दिल्ली-वाराणसी सेमी-हाई स्पीड ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के बाद यह दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस है जिसे गुरुवार को रवाना किया गया हैइस ट्रेन के कोच स्वदेशी तौर पर चेन्नई रेल कोच फैक्ट्री में तैयार किए गए हैं। इस अवसर पर अमित शाह ने इन नवरात्रों में देश के लोगों को एक बड़ा उपहार देने के लिए रेल मंत्रालय को बधाई दी। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के विकास और प्रगति में धार्मिक पर्यटन की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है। भारत के प्रत्येक नागरिक की अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार वैष्णो देवी मंदिर जाने की इच्छा होती है। जिस दिन उन्होंने कार्यभार संभाला, उस दिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के धार्मिकस् थानों को सुरक्षित, कुशल और आरामदायक हाई-स्पीड रेलवे नेटवर्क से जोड़ने का ष्टिकोण रखा था। उन्होंने कहा, 'वंदे भारत' एक्सप्रेस को मुख्य प्राथमिकता के रूप में गति, पैमाने और सेवा को ध्यान में रखते हुए उठाया गया एक बड़ा कदम है। श्री शाह ने कहा कि 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यब था के अपन्ह ष्टिकोण को प्राप्त करने के लिए प्रधानमंत्री रेलवे को एक जीवन रेखा के रूप में देखते हैंवंदे भारत' 'मेक इन इंडिया' की सफलता का एक जीता जागता उदाहरण हैउन्होंने कहा कि श्री मोदी के नेतृत्व में रेलवे का विकास और आधुनिकीकरण बहुत तीव्र गति से हो रहा है।



महात्मा गांधी को उनकी 150वीं वर्षगांठ पर याद करते हुए श्री शाह ने कहा कि बापू ने दुनिया को एक दर्शन दिया कि समस्याओं के सबसे बड़े और सरल समाधान कैसे निकाले जा सकते हैं। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान ऐसा ही एक दर्शन 'स्वदेशी' था और रेलवे ने भारत के लोगों के साथ एक संबंध बनाकर स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए गांधीजी के संघर्ष में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। श्री शाह ने यह कहते हुए गर्व व्यक्त किया कि यह 'वंदे भारत' एक्सप्रेस पूरी तरह से 'स्वदेशी' है और यह दुनिया की श्रेष्ठ रेल परिवहन प्रौद्योगिकी के बराबर है। यह ट्रेन एक महात्मा गांधी को एक बड़ी श्रद्धांजलि है, जिसे श्री मोदी ने 'मेक इन इंडिया' के अपन्ह ष्टिकोण के माध्यम से बापू के आदर्शों को दी है। अनुच्छेद 370 को हटाने के बारे में श्री शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 जम्मू-कश्मीर के विकास और भारत के साथ इस राज्य के वास्तविक एकीकरण में एक बड़ी बाधा थी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इसके हटने के बाद जम्मू कश्मीर से आतंकवाद की बुराई पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी। "मुझे विश्वास है कि अगले 10 वर्षों में कश्मीर विकास मापदंडों पर अग्रणी राज्य हो जाएगा। इसकी शुरुआत वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने के साथ हुई है। यह प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जम्मू-कश्मीर के लोगों को विकास के लिए एक बड़ा उपहार है। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इस अवसर पर रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि आज भारत के गृहमंत्री अमित शाह की उप िथति में नवरात्रि के शुभ अवसर पर नई दिल्ली से कटरा के बीच वंदे भारत का शुभारंभ होने जा रहा है। माता वैष्णो देवी का आशीर्वाद जम्मू कश्मीर के विकास को एक प्रेरणा देगा और वंदे भारत उस विकास का एक उदाहरण है जो आज अपनी यात्रा शुरू करने जा रही है। आज मैं भारतीय रेलवे के उन कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना करता हूं जो इस ट्रेन की व्यब था में काम कर रहे हैं। पीयूष गोयल ने कहा कि भारतीय रेलवे ने ट्रेनों और स्टेशनों पर सीसीटीवी लगाए हैं, जो रेल यात्रियों को एक सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराएंगे। इस अवसर पर बोलते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि सबसे पहले मैं इस परियोजना की उपलब्धि पर भारतीय रेलवे को बधाई देता हूं। मेरा यह मानना है कि वंदे भारत अन्य आधुनिक ट्रेनों की तुलना में क्लास टेक्नोलॉजी में सबसे अच्छी है। डॉ हर्षवर्धन ने अत्याधुनिक सुविधाएं प्रदान करने के लिए भारतीय रेलवे के प्रयास की प्रशंसा की।



इस अवसर पर डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतत्व में सरकार ने रेलवे में आधुनिक प्रौद्यागिकी की शुरूआत की है। ऐसी पहली ट्रेन का नाम वंदे भारत एक्सप्रेस था। दिल्ली-वाराणसी से वंदे भारत एक्सप्रेस नामक पहली ट्रेन को इस साल के शुरू में प्रधानमंत्री द्वारा हरी झंडी दिखाई गई थी और यह ऐसी दूसरी ट्रेन है जो दिल्ली को कटरा से जोड़ेगी। उन्होंने कहा कि कटरा केवल एक पर्यटनर थल ही नहीं है, बल्कि हमारी अस् था भी इससे जुड़ी हुई है। डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार ने इस साल 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को रद्द करके एक निर्णायक कदम उठाया। उन्होंने कहा कि दिल्ली-कटरा ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करना प्रधानमंत्री का दूसरा उपहार है। उन्होंने कहा कि इस कदम से जम्मू-कश्मीर को ऐसे अनेक अवसर मिलेंगे, जिनसे वे अभी तक वंचित थे। रेल राज्य मंत्री ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने देश के हर गरीब को प्रथम श्रेणी की सुविधाएं प्रदान करने का सपना देखा था। भारतीय रेल राष्ट्र को नई दिल्ली से कटरा के बीच वंदे भारत का तोहफा देने जा रही है। भारतीय रेलवे पूरी तरह से आधुनिकीकरण के मार्ग पर अग्रसर है। ट्रेनों के सुचारू संचालन के लिए सर्वोत्तम तकनीकों को अपनाया गया हैमैं भारतीय रेलवे के अधिकारियों और इंजीनियरों की हर सफलता की कामना करता हूं।



रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने गृहमंत्री, रेल और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों और भारतीय रेलवे के सभी कर्मचारियों का वंदे भारत के शुभारंभ में स्वागत कियाउन्होंने कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं कि गृहमंत्री ने दूसरी वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखाई है। भारतीय रेलवे ने आज ट्रेनों के परिचालन में आधुनिक प्रौद्योगिकी का प्रयोग किया है। आज वन्दे भारत के शुभारंभ से रेल यात्रियों को जम्मू कश्मीर की यात्रा कम समय में पूरी करने की सुविधा मिलेगी। भारतीय रेलवे ने भी स्वछता में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को आधुनिक सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है।