रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बैंकॉक में एडीएमएम-प्लस के साथ विभिन्न द्विपक्षीय बैठकें कीं

> यूएस, थाईलैंड, जापान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ रक्षा संबंधों को और बेहतर बनाने के तरीकों पर हुई चर्चा।

नई दिल्ली (का ० उ ० सम्पादन)। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 6 वीं आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक-प्लस (एडीएमएम-प्लस) में भाग लेने के लिए थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में हैं। रविवार को, एडीएमएम-प्लस की तर्ज पर, रक्षा मंत्री ने संयुक्त राज्य अमेरिका के रक्षा सचिव डॉ मार्क एस्पर, थाईलैंड के उप प्रधान मंत्री प्रवीत वोंगसुवान, जापान के रक्षा मंत्री श्री तारो कोनो, ऑस्ट्रेलियाई रक्षा मंत्री लिंडा रेनॉल्ड्स और न्यूजीलैंड के रक्षा मंत्री रॉन मार्क के साथ द्विपक्षीय बैठकें कीं। विचार-विमर्श में,  राजनाथ सिंह ने संबंधित नेताओं के साथ द्विपक्षीय रक्षा संबंधों के संपूर्ण सरगम ​​की समीक्षा की और संबंधों को और बेहतर बनाने के तरीकों पर चर्चा की।


यह रक्षा मंत्री की अमेरिकी रक्षा मंत्री के साथ पहली बैठक थी। दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच बढ़ती रक्षा व्यस्तताओं पर संतोष व्यक्त किया और अगले महीने बाद वाशिंगटन डीसी में 2 + 2 की बैठक के लिए फिर से मिलने के लिए उत्सुक थे। राजनाथ सिंह ने क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की और भारत-प्रशांत पर भारत के विज़न और परिप्रेक्ष्य को डॉ मार्क एस्पर के साथ साझा किया।


थाईलैंड के उप प्रधान मंत्री प्रवीत वोंगसुवान के साथ अपनी बैठक में, रक्षा मंत्री ने भारत और थाईलैंड के बीच द्विपक्षीय संबंधों से संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा की। रक्षा मंत्री ने वर्ष 2019 के लिए एडीएमएम-प्लस और आसियान के अध्यक्ष के रूप में गतिविधियों के सफल संचालन के लिए थाईलैंड के उप प्रधान मंत्री की सराहना की। राजनाथ सिंह ने जनरल प्रवीत वोंगसुवान को भारत सरकार की अधिनियम पूर्व नीति और भारत-प्रशांत नीति में आसियान की केंद्रीयता के बारे में भी अवगत कराया।


रक्षा मंत्री के साथ जापान के रक्षा मंत्री तारो कोनोवास की बैठक भी नेता के साथ पहली बार हुई। इस महीने के अंत में होने वाली 2 + 2 बैठक के लिए दोनों नई दिल्ली में मिलेंगे। दोनों नेताओं ने भारत-जापान रक्षा सहयोग को और गति देने पर विस्तृत चर्चा की। उन्होंने सशस्त्र बलों के बीच रक्षा कार्यों और अभ्यास पर संतोष व्यक्त किया।


राजनाथ सिंह ने ऑस्ट्रेलिया की  रक्षा मंत्री लिंडा रेनॉल्ड्स और न्यूजीलैंड के रक्षा मंत्री रॉन मार्क से भी मुलाकात की और उन्नत रक्षा के लिए चल रहे रक्षा सहयोग और संभावित क्षेत्रों पर चर्चा की। ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री के रायसीना वार्ता के दौरान अगले साल की शुरुआत में नई दिल्ली आने की संभावना है।


एडीएमएम-प्लस बैठक आज होगी जिसमें 18 एडीएमएम-प्लस देशों के रक्षा मंत्री हिस्सा लेंगे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद