सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए भारत के साथ साझेदारी करेगा बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन


> बिल गेट्स ने डॉ. हर्ष वर्धन से मुलाकात की।
> गेट्स फाउंडेशन के साथ हमारा जुड़ाव रहा है फलदायी: डॉ हर्ष वर्धन


> स्वास्थ्य मंत्रालय और बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के बीच सहयोग समझौते पर हुए हस्ताक्षर।




नई दिल्ली (का ० उ ० सम्पादन)। बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स ने बीते सोमवार को नई दिल्ली में स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन से मुलाकात की। दोनों की उपस्थिति में स्वास्थ्य मंत्रालय एवं गेट्स फाउंडेशन के बीच एक सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से संयुक्त सचिव (अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य)  लव अग्रवाल और गेट्स फाउंडेशन की ओर से कंट्री कार्यालय निदेशक हरि मेनन ने समझौते पर हस्ताक्षर किए। बैठक में आयुष्मान भारत में लोगों को सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा किए गए उपायों तथा वेलनेस केन्द्रों और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से आयुष्मान भारत की ओर से किए गए योगदान पर प्रकाश डाला गया। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से मातृ एवं बाल मृत्यु दर घटाने, पूर्ण टीकाकरण अभियान का विस्तार करने तथा नेशनल डिजिटल ब्लू प्रिंट फ्रेमवर्क के तहत टीबी जैसे रोगों को नियंत्रित करने में बड़ी उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने कहा, हमारे भविष्य द्रष्टा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2022 तक एक नए भारत के निर्माण की परिकल्पना की है, जिसमें सभी के लिए सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित होंगी। हमारे प्रयास और पहल इसी दिशा में हैं। गेट्स फाउंडेशन के साथ सहयोग समझौते पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा, लंबे समय से गेट्स फाउंडेशन के साथ हमारा जुड़ाव काफी फलदायी रहा है। फिर चाहे वो पोलियो उन्मूलन के लिए रहा हो या फिर टीकाकरण अभियान का दायरा बढ़ाने से संबंधित रहा हो। डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि अब समय आ गया है कि हम देश में गुणवत्ता युक्त तथा प्रभावी प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रणाली के माध्यम से सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज के लिए मिलकर काम करें। हम उन नवीन दृष्टिकोणों को अपनाने का महत्व पहचानते हैं जो न केवल स्वास्थ्य प्रणाली की कमियों को दूर करने मददगार होंगे, बल्कि अब तक हासिल उपलब्धियों के आधार पर एक सशक्त स्वास्थ्य प्रणाली का निर्माण करेंगे। उन्होंने कहा कि गेट्स फाउंडेशन के साथ सहयोग समझौता दोनों के लिए लाभकारी होगा। इससे हम अपनी स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने में गेट्स फाउंडेशन की विशेषज्ञता का लाभ उठा सकेंगे।  



स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा की गई पहल का समर्थन करते हुए, श्री बिल गेट्स ने कहा, “स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस देश में प्राथमिक स्वास्थ्य प्रणाली में विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों पर ध्यान देते हुए महत्वाकांक्षी दृष्टिकोण को अपनाया है। हमारा फाउंडेशन उस लक्ष्य का समर्थन करता है और हम इसे हासिल करने के लिए भारत के साथ साझेदारी करना चाहते हैं। इसीलिए आज हम इस सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर करके बहुत खुश हैं। सहयोग समझौते के तहत गेट्स फाउंडेशन सरकार के साथ मिलकर काम करते हुए नवाचार, सर्वोत्तम प्रथाओं और प्रदर्शन प्रबंधन को बढ़ाने पर विशेष ध्यान देगा और अपने अन्य भागीदारों के माध्यम से तकनीकी, प्रबंधन और कार्यक्रम डिजाइन के क्षेत्र में मदद प्रदान करेगा। गेट्स फाउंडेशन मातृ और बाल मृत्यु दर को कम करने, पोषण सेवाओं में सुधार और टीकाकरण पहुंच बढ़ाने जैसे प्राथमिक स्वास्थ्य पहलुओं को मजबूत करने की दिशा में मंत्रालय के काम का समर्थन करेगा। युवा महिलाओं के बीच परिवार नियोजन के उपायों की पहुंच बढ़ाने और चुनिंदा संक्रामक रोगों (तपेदिक, आंतों की बीमारी, लिम्फैटिक फाइलेरियासिस) के बोझ को कम करने के प्रयास किए जाएंगे। काम में बजट के उपयोग, प्रबंधन और स्वास्थ्य के लिए मानव संसाधनों के कौशल पर ध्यान केंद्रित करते हुए आपूर्ति श्रृंखलाओं और निगरानी प्रणालियों को मजबूत करना भी शामिल होगा, जो अंततः संपूर्ण स्वास्थ्य प्रणाली को प्रभावित करेगा। बैठक में श्री हर्ष वर्धन सहित मंत्रालय के कई वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की