उत्तर मध्य रेलवे में लगभग 90% की समयपालनता के साथ विशेष गाड़ियों का संचालन हुआ संभव

> श्रमशक्ति एक्सप्रेस की औसतन आकूपेंसी केवल 52%, इसके बाद भी उ म रे ने निरंतर निगरानी और कुशल संचालन के साथ समय से ट्रेन चलाईं।


> उत्तर मध्य रेलवे ने विशेष ट्रेनों के समयबद्ध संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुये 1 से 7 जून 2020 की अवधि में विशेष ट्रेनों को समयबद्धता से चलाया है।



प्रयागराज (मुख्य संवाददाता, उ म रे)। देश के प्रत्येक भाग को कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए, भारतीय रेलवे ने दिनांक 12 मई से 30 वातानुकूलित स्पेशल और 01 जून से 200 अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं। इनमें से 26 वातानुकूलित और 100 अतिरिक्त विशेष रेलगाड़ियों का उत्तर मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर ठहराव दिया गया है, जिसमें उत्तर मध्य रेलवे परीक्षेत्र से प्रारम्भ होने वाली प्रयागराज-नई दिल्ली और कानपुर-नई दिल्ली के बीच दो जोड़ी विशेष ट्रेनें भी शामिल हैं। रेल परिचालन के इतिहास में संभवत: यह पहली बार है जब रेलवे औपचारिक रूप से जब तक बहुत आवश्यक न हो, यात्रियों से यात्रा न करने का अनुरोध कर रहा है, फिर भी सम्पूर्ण देश के सभी प्रमुख स्थानों के लिये इन विशेष रेलगाड़ियों का परिचालन यह सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है कि कोविड -19 के दौरान सभी आवश्यक यात्रा आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके। उत्तर मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों से प्रारम्भ होने या गुजरने वाली विशेष ट्रेनें नई दिल्ली, अमृतसर, हावड़ा, मुंबई, पुणे, वास्को डी गामा, गुवाहाटी, बेंगलुरु, चेन्नई, एर्नाकुलम, पटना, रांची, भुवनेश्वर, अहमदाबाद, सूरत, नांदेड़, लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, जबलपुर, भोपाल आदि महत्वपूर्ण स्थलों के लिए कनेक्टिविटी प्रदान कर रही हैं। कोविड -19 से प्रभावी ढंग से लड़ने के लिए नई सामान्य स्थिति के तहत अलग तरह का यात्रा पैटर्न भी विकसित हुआ है और दिनांक 01 जून से विशेष ट्रेनों के रूप में चालु की गई प्रयागराज और श्रमशक्ति एक्सप्रेस की औसतन आकूपेंसी केवल 73% और 52% है जो कि अपेक्षाकृत कम है, परंतु उत्तर मध्य रेलवे इन ट्रेनों को कुशल तरीके से चलाने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि प्रत्येक आवश्यक यात्रा की मांग को पूरा किया जा सके। निरंतर निगरानी, कुशल संचालन और परिसंपत्तियों के कुशल रखरखाव के साथ, उत्तर मध्य रेलवे ने विशेष ट्रेनों के समयबद्ध संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुये 1 से 7 जून 2020 की अवधि में विशेष ट्रेनों को 86.8% समयबद्धता से चलाया है। इस अवधि में कुल 538 विशेष ट्रेनों में 467 ट्रेनों को शत प्रतिशत समयबद्धता के साथ चलाया गया है। उत्तर मध्य रेलवे में ट्रेनों का कुशल और समयबद्ध परिचालन इस तथ्य से भी स्पष्ट होता है कि मई 2020 में इलेक्ट्रिक और डीजल इंजनों की औसत दैनिक परिचालन 568 और 439 किलोमीटर प्रति दिन रहा है जो कि पिछले वर्ष की इसी अवधि मई 2019 की तुलना में 15% अधिक है, तथा उत्तर मध्य रेलवे परिक्षेत्र में ट्रेनों के निर्बाध परिचालन को भी परिलक्षित करता है। गतिशीलता की पहचान के साथ, उत्तर मध्य रेलवे सभी ट्रेनों को कुशलतापूर्वक चलाने के लिए प्रतिबद्ध है,  हालांकि यह फिर से अनुरोध किया गया है कि जब तक बहुत आवश्यक न हो यात्रा न करें और यात्रा करने की स्थिति में कोविड -19 से बचाव के लिए सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुये सुरक्षित यात्रा करें।


Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन की है आवश्यकता