प्रधानमंत्री आज उच्च प्रवाह क्षमता वाली कोविड-19 परीक्षण सुविधाओं का शुभारंभ करेंगे


> इन सुविधाओं से युक्त प्रयोगशालाओं से संक्रामक नैदानिक ​​सामग्री से स्वास्थ्य कर्मियों को बचाने और उनके प्रतिवर्तन काल टर्नअराउंड टाइम को कम करने में मदद मिलेगी। 




नई दिल्ली (पी आई बी)प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी आज 27 जुलाई 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उच्च प्रवाह क्षमता वाली कोविड-19 परीक्षण सुविधाओं का शुभारंभ करेंगे। इन सुविधाओं से देश में परीक्षण करने की क्षमता बढ़ेगी और इनसे बीमारी की शुरुआती पहचान और समय रहते उपचार करने में तेजी आएगी। इस प्रकार इन सुविधाओं से कोरोना महामारी के फैलाव को नियंत्रित करने में सहायता मिलेगी। इन तीन उच्च क्षमता प्रवाह वाली परीक्षण सुविधाओं को रणनीतिक तौर पर नोएडा स्थित आईसीएमआर - राष्ट्रीय कैंसर निवारण एवं अनुसंधान संस्थान मुंबई स्थित आईसीएमआर - राष्ट्रीय प्रजननीय स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान और कोलकाता  स्थित आईसीएमआर - राष्ट्रीय हैजा एवं आंत्र बीमारी संस्थान में स्थापित किया गया है जो हर रोज 10,000 से अधिक नमूनों का परीक्षण करने में सक्षम हैं। इन सुविधाओं से युक्त प्रयोगशालाओं से संक्रामक नैदानिक ​​सामग्री से स्वास्थ्य कर्मियों को बचाने और उनके प्रतिवर्तन काल (टर्नअराउंड टाइम) को कम करने में मदद मिलेगी। इन प्रयोगशालाओं में कोविड के अलावा अन्य बीमारियों का भी परीक्षण हो सकेगा और महामारी खत्म होने के बाद हेपेटाइटिस बी एवं सी, एचआईवी, माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस, साइटोमेगालोवायरस, क्लैमाइडिया, नीसेरिया, डेंगू  इत्यादि बीमारियों के लिए भी परीक्षण कार्य होगा। इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री के साथ ही महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी भाग लेंगे।

Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की