भारत की रनों के लिहाज से टेस्ट इतिहास की चौथी सबसे बड़ी जीत

> रहाणे को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला


> वेस्ट इंडीज के दोनों ओपनरों को बुमराह ने भेजा पवेलियन



एंटीगा - उपकप्तान अजिंक्या रहाणे (102 रन) और हनुमा विहारी (93 रन) शानदार पारियों के बाद तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (7 रन पर 5 विकेट) की कातिलाना गेंदबाजी से भारत ने वेस्ट इंडीज को पहले क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन रविवार को अंतिम सत्र में 100 रन पर ढेर कर 318 रन से ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली। भारत ने दूसरे सत्र में अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 343 रन पर घोषित कर मेजबान टीम के सामने 419 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया था जिसका पीछा करते हुए विंडीज की टीम चायकाल तक अपने पांच विकेट मात्र 15 रन पर गंवाने के बाद उबर नहीं सकी और चायकाल के बाद 26.5 ओवर में 100 रन पर ढेर हो गयी। भारत ने इस तरह विंडीज पर रनों के लिहाज से अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल कर दो मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारत की ओवरआल रनों के लिहाज से यह चौथी सबसे बड़ी जीत है। भारत को इस जीत से 60 अंक मिले। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के तहत दो टेस्टों की सीरीज में एक टेस्ट में जीत से 60 अंक मिलते हैं। भारत की दोनों पारियों में 81 और 102 बनाने वाले रहाणे को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। बुमराह ने आठ ओवर में मात्र सात रन देकर पांच विकेट झटके और दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बाद वेस्ट इंडीज के अपने पहले दौरे में एक पारी में पांच विकेट झटक लिए। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले इशांत शर्मा ने 31 रन पर 3 विकेट और मोहम्मद शमी ने 13 रन पर दो विकेट निकाले। भारत ने विंडीज की दूसरी पारी 100 रन पर समेट दी। भारत की रनों के लिहाज से उसके टेस्ट इतिहास की यह चौथी सबसे बड़ी जीत है। भारत इस मुकाबले में अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल करने से चूक गया। इससे पहले उसने दक्षिण अफ्रीका को चेन्नई में 2015 में 337 रन से हराया था जो उसकी सबसे बड़ी टेस्ट जीत थीकप्तान विराट कोहली ने इस जीत के साथ महेंद्र सिंह धोनी के 27 टेस्ट जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। लक्ष्य का पीछा करने उतरे विंडीज के दोनों ओपनरों को बुमराह ने पवेलियन भेजा। कैग ब्रैथवेट एक रन बनाकर विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों लपके गए जबकि जान केम्पबेल सात रन बनाकर बोल्ड हो गए। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले इशांत शर्मा ने शमारह ब्रुक्स को पगबाधा कर दिया। ब्रुक्स दो रन ही बना सके। इशांत ने फिर चायकाल से पहले शिमरॉन हेत्माएर को भी आवर कर विंडीज को गहरे संकट में डाल दिया। हेत्माएर एक ही रन बना सके। बुमराह ने डैरेन ब्रावो को बोल्ड कर वेस्ट इंडीज का स्कोर 15 रन पर पांच विकेट कर दिया। इस विकेट के गिरते ही चायकाल हो गया। चायकाल तक बुमराह ने छह रन पर तीन विकेट और इशांत ने आठ रन पर दो विकेट झटक लिए।चायकाल के बाद भी लगभग यही स्थिति रही। बुमराह ने शयी होप (2) को बोल्ड कर दिया और फिर कप्तान जैसन होल्डर का विकेट भी झटक लिया। होल्डर आठ रन बना सके और विंडीज का सातवां विकेट 37 के स्कोर पर गिरा। मोहम्मद शमी ने रोस्टन चेज और शैनन गेब्रियल के विकेट झटककर स्कोर नौ विकेट पर 50 रन कर दिया। लेकिन इसके बाद केमार रोच और मिगुएल कमिंस ने आखिरी विकेट के लिए 50 रन की ताबड़तोड़ साझेदारी की और अपनी टीम की हार को कुछ सम्मान दे दिया। रोच ने लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा के एक ओवर में तीन छक्के मारे। कमिंस ने शमी की गेंदों पर लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा। इस साझेदारी ने भारत को उसकी सबसे बड़ी टेस्ट जीत से दूर गट ने आखिर इशांत को मोर्चे पर लगाया और इशांत ने रोचको आउट कर जीत भारत की झोली में डाल दी। रोच ने 31 गेंदों पर एक चौके और पांच छक्कों की मदद से 38 रन बनाये जबकि कमिंस 19 रन पर नाबाद रहे। इससे पहले सुबह भारत ने कल के तीन विकेट पर 185 रन से आगे खेलना शुरू किया था। रहाणे ने अपना 10वां शतक बनाया जबकि हनुमा अपना पहला शतक बनाने से मात्र सात रन से चूक गए। रहाणे ने 242 गेंदों पर 102 रन की संयमित पारी में पांच चौके लगाए। हनुमा ने 128 गेंदों पर 93 रन में 10 चौके और एक छक्का लगाया। रहाणे और हनुमा ने पांचवें विकेट के लिए 135 रन की बेशकीमती साझेदारी की। रहाणे ने कल के 53 रन और कप्तान विराट कोहली के 51 रनों से आगे खेलना शुरू किया। विराट अपने कल के स्कोर पर ही आउट हो गए। उन्हें रोस्टन चेज ने आउट किया। विराट ने 113 गेंदों पर 51 रन में दो चौके लगाए। दूसरी पारी में भारत के 81 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद भारतीय पारी को विराट और रहाणे ने संभाला था। दोनों ने बेहद संतुलित पारी खेलते हुए भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए 106 रनों की शतकीय साझेदारी की। पहली पारी में शानदार 81 रनों की अर्धशतकीय पारी खेलने वाले रहाणे ने दूसरी पारी में भी अपनी फॉर्म बरकरार रखते हुए बेहतरीन शतक ठोका। ऋषभ पंत दूसरी पारी में भी विफल रहे और मात्र सात रन बना सके। रवींद्र जडेजा एक रन पर नाबाद रहे। कप्तान विराट ने हनुमा के आउट होते ही भारतीय पारी घोषित कर दी। इससे पहले विंडीज को पहली पारी में 222 रनों पर निपटाने के बाद दूसरी पारी में एक बार फिर भारत की सलामी जोड़ी बड़ी साझेदारी करने में असफल रही


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति