जेटली को डीडीसीए की श्रद्धांजलि, फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान में होगा अरुण जेटली स्टेडियम

> 12 सितम्बर को रजत शर्मा करेंगे घोषणा



नयी दिल्ली  - दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने अपने पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के नाम पर राजधानी के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का नाम रखने का फैसला किया है। फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का नाम अब अरुण जेटली स्टेडियम रखा जाएगा। डीडीसीए ने मंगलवार को यह फैसला किया। हालांकि यह मैदान फिरोजशाह कोटला मैदान ही रहेगा और स्टेडियम का नाम अरुण जेटली स्टेडियम रखा जाएगा। श्री जेटली का गत 24 अगस्त को निधन हो गया था। वह 1999 से 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे थे। डीडीसीए के अध्यक्ष रजत शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस बारे में आगामी 12 सितंबर को राजधानी में एक समारोह के दौरान यह घोषणा की जाएगी। इसी समारोह में कोटला के एक स्टैंड का नाम भारतीय कप्तान विराट कोहली के नाम पर भी रखा जाएगा। रजत शर्मा ने कहा, "जेटली को यह डीडीसीए की तरफ से श्रद्धांजलि होगी। इस स्टेडियम का पुनर्निमाण उस समय हुआ था जब जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे। इसलिए हमने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि इस स्टेडियम का नाम अरुण जेटली के नाम पर रखा जाएजेटली के समर्थन और प्रोत्साहन से ही विराट कोहली, विरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, आशीष नेहरा, रिषभ पंत और कई अन्य क्रिकेटरों ने भारतीय टीम में जगह बनायी और भारत को गौरव प्रदान किया।"12 सितंबर को होने वाले समारोह में विराट के नाम पर उनके घरेलू फिरोजशाह कोटला मैदान के एक स्टैंड का नाम रखा जाएगा। विराट इस तरह सबसे युवा सक्रिय क्रिकेटर बन जाएंगे जिनके नाम पर फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के एक स्टैंड का नाम रखा जाएगा। यह समारोह जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम कॉम्लेक्स स्थित भारोत्तोलन हाल में होगा। समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि होंगे और केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू इस अवसर पर सम्मानीय अतिथि होंगे। विराट ऐसे तीसरे खिलाड़ी होंगे जिनके नाम पर कोटला के स्टैंड का नाम रखा जाएगा। इससे पहले बिशन सिंह बेदी और मोहिंदर अमरनाथ के नाम पर कोटला के दो स्टैंड के नाम रखे गए हैं लेकिन ये दोनों खिलाड़ी रिटायर हो चुके हैं और उनके रिटायर होने के काफी साल बाद जाकर कोटला में के नाम पर स्टैंड के नाम रखे गए जबकि इस हॉल ऑफ फेम में विराट सबसे युवा और सक्रिय खिलाड़ी हैं। वीरेंदर सहवाग और अंजुम चोपड़ा दो अन्य ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके नाम पर कोटला के गेट रखे गए हैं जबकि हॉल ऑफ फेम पूर्व भारतीय कप्तान मंसूर अली खां पटौदी के नाम पर रखा गया है।डीडीसीए इस अवसर पर पूरी भारतीय टीम और कोच रवि शास्त्री को सम्मानित करेगा। डीडीसीए इस अवसर पर उन क्रिकेटरों को भी सम्मानित करेगा जिन्होंने दिल्ली की सेवा की है लेकिन पिछले पांच वर्षों में रिटायर हो गए हैं


बीसीसीआई अध्यक्ष ने नाम रखने के फैसले का किया स्वागत



भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने डीडीसीए के अपने पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के नाम पर राजधानी के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का नाम रखने के फैसले का स्वागत किया है। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने मंगलवार को यह फैसला किया कि फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का नाम अब अरुण जेटली स्टेडियम रखा जाएगा। खन्ना ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा, "मैं डीडीसीए की प्रबंधन समिति के कोटला स्टेडियम का नाम अरुण जेटली स्टेडियम रखने के फैसले का दिल से स्वागत करता हूं।" भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कार्यवाहक अध्यक्ष खन्ना ने कहा, "इस फैसले से मुझे व्यक्तिगत रुप से खुशी हुई है क्योंकि मुझे डीडीसीए प्रशासन में जेटली को लाने का सम्मान हासिल है। जेटली वर्षों तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे और मैंने लंबे समय तक उनके साथ काम किया।"


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति