खेल मंत्री ने विश्व पैरा बैडमिंटन एवं बैडमिंटन चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को दिया कैश प्राइज

> सरकार की तरफ से बैडमिंटन खेल को हर संभव सहयोग दिया जाएगा: रिजिजू



नयी दिल्ली  - केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली पीवी सिंधू को मंगलवार को यहां 10 लाख रुपये और कांस्य पदक जीतने वाले बी साई प्रणीत को चार लाख रुपये का चैक सौंपा जबकि खेल मंत्री ने विश्व पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में 12 पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को कुल 1.82 करोड़ रुपये के चैक सौंपे। खेल मंत्री ने सिंधू से अपने आधिकारिक आवास पर ब्रेकफास्ट पर मुलाकात की जबकि उन्होंने पैरा बैडमिंटन खिलाड़ियों से भारतीय खेल प्राधिकरण के केंद्र में लंच पर मुलाकात की। खेल मंत्री ने पैरा विश्व बैडमिंटन के पदक विजेताओं को भारी भरकम पुरस्कार राशि से नवाजते हुए सामान्य और पैरा खिलाड़ियों के बीच के भेदभाव को एक झटके में समाप्त कर दिया। रिजिजू ने अपनी तरफ से यह शानदार पहल की है और दिशा निर्देशों में संशोधन किया है जिसके अनसार अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक समिति द्वारा आयोजित विः और विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को नगद पुरस्कार दिए जाएंगे। पैरा विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप भी बासेल में आयोजित हुई थी जहां भारतीय खिलाड़ियों ने 12 पदक जीते थे। इन पदक विजेताओं ने खेल मंत्री से मुलाकात की। रिजिजू ने इन विजेताओं को कुल 1.82 करोड़ रुपये के चैक सौंपे। पैरा विश्व चैंपियनशिप के स्वर्ण विजेता को 20 लाख, रजत को 14 लाख और कांस्य पदक विजेता को आठ लाख रुपये दिए गए। युगल स्वर्ण विजेता में प्रत्येक को 15 लाख, रजत विजेता को 10.5 लाख और कांस्य विजेता को छह लाख रुपये दिए गए। खेल मंत्री ने कहा, "हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि सभी खिलाड़ियों के साथ समान व्यवहार हो। पैरा बैडमिंटन टीम ने शान और उन्हें उनकी मेहनत का पुरस्कार मिलना चाहिए।” सिंधू स्विटजरलैंड के बासेल में इतिहास रचने के बाद आज ही स्वदेश लौटीं। लौटने के बाद पहले वह रिजिजू से और उसके बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलीं। सिंधू ने रविवार को जापान की नोजोमी ओकुहारा को 21-7, 21-7 से हराकर विश्व बैडमिंटन प्रतियोगिता का खिताब जीता था। सिंधू विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनी हैं। खेल मंत्री ने सिंधू को अपने आधिकारिक निवास पर ब्रेकफास्ट पर आमंत्रित किया था और उन्हें इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिए 10 लाख रुपये का चैक सौंपाइस अवसर पर भारतीय बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष हिमांता बिस्वा सरमा भी मौजूद थे जो पहले ही बैडमिंटन संघ की तरफ से सिंधू को 10 लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा कर चुके हैं। राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद, सिंधू के कोच किम जी यून, सिंधू के पिता पीवी रमन्ना, खेल सचिव राधेश्याम झुलानिया और साई के महानिदेशक संदीप प्रधान तथा बैडमिंटन संघ के महासचिव अजय सिंघानिया भी इस अवसर पर मौजूद थे। रिजिजू ने लगभग एक घंटे तक सिंधू और अन्य लोगों से बातचीत की। उन्होंने सिंधू, गोपीचंद और किम के साथ बैडमिंटन की बारिकियों पर भी चर्चा की। उन्होंने गोपीचंद से भारतीय बैडमिंटन के मौजूदा हालात पर भी जानकारी ली और आश्वासन दिया कि सरकार की तरफ से इस खेल को हर संभव सहयोग दिया जाएगा। खेल मंत्री ने विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले बी साई प्रणीत को भी बधाई देते हुए चार लाख रुपये का चैक सौंपा। बैडमिंटन संघ भी प्रणीत को पांच लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा कर चुका है