क्लीन स्वीप के बाद टीम इंडिया आजमाना चाहेगी विकल्प, होल्डर की कप्तानी पर लटक रही तलवार

> लोकेश राहुल के साथ ओपनिंग में उतरेंगे मयंक अग्रवाल



एंटीगा - विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया आज से वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट से आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में विजयी शुरुआत करने के इरादे से उतरेगी। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत एक अगस्त से हो चुकी है और भारत तथा वेस्टइंडीज के लिए इस चैंपियनशिप का यह पहला मैच होगा। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्टों की सीरीज में कुल 120 अंक दांव पर रहेंगे। दो टेस्टों की सीरीज में एक मैच जीतने पर 60 अंक मिलते हैं। भारतीय टीम वेस्टइंडीज दौरे में अपराजित चल रही है। भारत ने तीन टुंटी-20 मैचों की सीरीज 3-0 से और तीन वनडे मैचों की सीरीज 2-0 से जीती थी। भारत इस लय को टेस्ट सीरीज में भी बरकरार रखना चाहेगा। भारत विश्वकप के सेमीफाइनल की हार को पीछे छोड़ चुका है और अब उसकी नजरें टेस्ट चैंपियनशिप पर टिकी हुई हैं। टीम इंडिया का पिछले आठ महीनों में यह पहला टेस्ट होगा। भारत ने अपना आखिरी टेस्ट इस साल जनवरी के पहले सप्ताह में ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में खेला था जो ड्रा रहा था। भारत ने ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज 2-1 से जीतकर इतिहास रचा था। भारत ने वेस्टइंडीज से अपनी पिछली घरेलू सीरीज 2-0 से जीती थी और 2016 में वेस्टइंडीज में चार मैचों की सीरीज 2-0 से जीती थी। भारत पिछले प्रदर्शन को इस सीरीज में बरकार रखना चाहेगा लेकिन इसके लिए उसे अपना टीम संतुलन बना लेना होगा। कप्तान विराट के सामने टीम इंडिया के बल्लेबाजी क्रम को सही रुप देने की चुनौती होगी। पृथ्वी शॉ की अनुपस्थति में यह तो तय है कि लोकेश राहुल के साथ ओपनिंग में मयंक अग्रवाल उतरेंगेअभ्यास मैच में शतक बनाने वाले चेतेश्वर पुजारा तीसरेर थान पर और विराट चौथे थान पर रहेंगे। भारत को इसके बाद अपना बल्लेबाजी क्रम तय करना है। पांचवें नंबर के लिए हनुमा विहारी, रोहित शर्मा और अजिंक्या रहाणे के बीच मुकाबला रहेगा। रहाणे टेस्ट टीम के उपकप्तान भी हैं जबकि वनडे के दिग्गज बल्लेबाज रोहित को टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की करनी हैरोहित ने अभ्यास मैच में शानदार अर्धशतक बनाया था। विकेटकीपर की भूमिका में रिद्धिमान साहा और रिषभ पंत के बीच मुकाबला रहेगा। साहा चोट के कारण 18 महीने तक टेस्ट क्रिकेट से बाहर रहे थे और उनकी जगह पंत ने अपनी प्रतिभा के साथ न्याय किया था। पंत एकमात्र ऐसे भारतीय विकेटकीपर बने हैं जिन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में शतक बनाए हैं। साहा की वापसी से फिलहाल पंत को कोई खतरा तो नहीं है लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि टीम इंडिया अपने सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर साहा को इस सीरीज में वापसी का मौका देती है या नहीं। तेज गेंदबाजी में इशांत शर्मा, जसप्रीत बमराह और मोहम्मद शमी की जगह तय है जबकि स्पिन जगह के लिए ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, लेफ्ट ऑर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव के बीच मुका श्विन को ऑस्ट्रेलिया में शुरुआती टेस्ट खेलने के बाद चोट के कारण बाहर होना पड़ा। अश्विन भारत के पिछले विंडीज दौरे में मैन ऑफ द सीरीज रहे थे लेकिन भारत के पिछले दो विदेशी दौरों में उन्हें फिटनेस समस्या से जुझना पड़ा था। कुलदीप हाल के मैचों में अपनी गेंदबाजी से उतना भरोसा नहीं जगा पाए हैं जितनी उनसे उम्मीद की जाती है जबकि जडेजा ने अपने हाल के प्रदर्शन से प्रभावित किया है। वेस्टइंडीज ने जैसन होल्डर की कप्तानी में टेस्ट मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है और टीम में अपने घरेलू मैदान पर इंग्लैंड जैसी दिग्गज टीम को घरेलू सीरीज में 2-1 से पराजित किया थाहोल्डर भारत के खिलाफ अपनी टीम से ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद करेंगे। हालांकि इसके लिए उनके तेज गेंदबाजों और बल्लेबाजों को बेहतर प्रदर्शन करना होगा। सीमित ओवरों की सीरीज में वेस्टइंडीज ने निराश किया था लेकिन टेस्ट क्रिकेट में इस टीम के पास भारत को चुनौती देने का दमखम है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच अबतक 96 टेस्ट खेले गए हैं जिसमें भारत ने 20 जीते हैं और 30 हारे हैं जबकि उनके बीच 46 टेस्ट ड्रा रहे हैं। वेस्टइंडीज के दिग्गज ब्रायन लारा ने खिलाड़ियों की वर्तमान पीढ़ी से जो देखा, उससे काफी प्रभावित हैं। भारत के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज से पहले, टेस्ट क्रिकेट में नॉटआउट बल्लेबाजी करने वाले और प्रथम श्रेणी क्रिकेट में नॉटआउट 501 रन बनाने वाले रु स ने वेस्टइंडीज़ को सही राह पर आने का सुझाव दिया। लारा अभ्यास सत्र के दौरान विंडीज टीम के साथ जुड़कर खुश थे और उन्होंने टेस्ट क्रिकेट के बारे में अपने ज्ञान को साझा किया।