पदम पुरस्कार - 2020 के लिए 16,000 से अधिक नामांकन प्राप्त, प्रक्रिया 15 सितंबर तक खुली रहेगी


पदम पुरस्कार-2020 के लिए ऑनलाइन नामांकन/अनुमोदन 1 मई, 2019 से शुरू हुआ था। नामांकन/अनुमोदन की अंतिम तिथि 15 सितंबर, 2019 तक है। पदम पुरस्कारों के लिए नामांकन/अनुमोदन केवल ऑनलाइन प्राप्त किए जायेंगे। नामांकन/अनुमोदन पदम पुरस्कार पोर्टल https://padmaawards.gov.in पर किये जाएंपोर्टल पर अब तक 16,176 पंजीकरण हुए हैं, जिनमें से 12,884 नामांकन/अनुमोदन पूरे हो चुके हैं। पदम पुरस्कार सभी क्षेत्रों/विषयों में विशिष्ट कार्य करने और अभूतपूर्व उपलब्धियां प्राप्त करने वाले व्यक्तियों को दी जाती है। इसके लिए नस्ल, जाति, व्यवसाय, पद या लिंग से इतर सभी व्यक्ति पात्र हैं। उल्लेखनीय है कि डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों में काम करने वाले लोग पदम पुरस्कारों के लिए पात्र नहीं हैं। केंद्रीय मंत्रालयों/विभागों, राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों, भारत रत्न और पदम विभूषण से सम्मानित व्यक्तियों तथा उत्कृष्टता सं थानों से आग्रह किया गया है कि ऐसे प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने का प्रयास करें जिन्होंने शानदार उपलब्धियां हासिल की हैं। आग्रह किया गया है कि महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, अनुसूचित जाति/जनजाति, दिव्यांग व्यक्तियों और समाज की निस्वार्थ सेवा करने वाले प्रतिभाशाली व्यक्तियों पर खास ध्यान दिया जाए। सभी नागरिक अपने स्वयं के नामांकन सहित नामांकन/अनुमोदन कर सकते हैं। इस प्रक्रिया में उपरोक्त वेबसाइट पर दिए गए प्रारूप के अनुसार सूचना और विवरण दिया जाना है। जिसके तहत अनुमोदित व्यक्ति की विशिष्ट सेवाओं और अभूतपूर्व उपलब्धियों के बारे में अधिकतम 800 शब्दों में विवरण दिया जाना है। इस संबंध में पूरा विवरण गृह मंत्रालय की वेबसाइट www.mha.gov.in पर 'एवार्ड्स एंड मेडल्स' शीर्षक में दिया गया है। इन परस्कारों से संबंधित नियमों की जानकारी https://padmaawards.gov.in/AboutAwards.aspx पर उपलब्ध है।