सानिया मिर्जा की पुस्तक 'ऐस अगेंस्ट ऑड्स' अब करीबी बुकस्टॉल में उपलब्ध

 



नई दिल्ली: भारत की सबसे कामयाब टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा की आत्मकथा अब आप अपने निकट बुकस्टॉल से पढ़ सकेंगे। 'Ace Against Odds' शीर्षक की इस आत्मकथा में सानिया मिर्जा ने अपनी जीवन के शुरुआती दिनों से लेकर विश्व की नंबर वन डबल्स खिलाड़ी बनने के सफर की कहानी बयां की है। यह किताब सानिया मिर्जा ने अपने पिता इमरान मिर्जा के साथ मिलकर लिखी है, ताकि वे अपने जीवन के तमाम पहलुओं को किताब में शामिल कर सकें। ४० चैप्टर की इस किताब को लिखने ५ वर्ष का समय लगा। 29 साल की सानिया मिर्जा 13 साल पहले उस समय सुर्खियों में आई थीं जब उन्होंने सिर्फ 16 साल की उम्र में विबलडन गर्ल्स का खिताब जीता था। इस मौके पर सानिया मिर्जा ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इस किताब से आने वाले यवा खिलाडियों को अपने करियर को संवारने में मदद मिलेगी। अगर मेरी किताब से किसी एक खिलाड़ी को ग्रैंड स्लैम जीतने में मदद मिलती है तो मैं यह समझेंगी कि मेरी मेहनत सफल हुई।" इस जीवनी में कई ऐसी घटनाओं का उल्लेख है जो बताती हैं कि कैसे सानिया मिर्जा ने मुसीबतों से हार नहीं मानी और मेहतन करती रहीं। साल 2012 में ही सानिया मिर्जा सिंगल्स से संन्यास का एलान कर चुकी हैं और तब से उन्होंने अपने डबल्स खेल पर ज्यादा ध्यान दिया है। अगस्त 2015 से लेकर मार्च 2016 तक मार्टिना हिंगिस के साथ मिर्जा ने लगातार 41 जीतों का रिकॉर्ड बनाया। इस दौरान 'सेंटीना' नाम से मशहूर यह जोड़ी दुनिया की नंबर वन जोड़ी बन गई।ऐस अगेंस्ट ऑड्स का विमोचन सलमान खान ने १७ जुलाई को मुंबई में किया, वहीं शाहरुख़ ने १३ जुलाई को विमोचन हैदराबाद में किया व १५ जुलाई को दिल्ली में परिणीति चोपड़ा ने भी बुक लांच की। 


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति