श्रीमती सुषमा स्वराज की अंत्येष्टि में शामिल हुए उपराष्ट्रपति


उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू आज पूर्व विदेश मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता श्रीमती सुषमा स्वराज की अंत्येष्टि में शामिल हुए। श्रीमती स्वराज का आज यहां राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले श्री नायडू ने नई दिल्लीथत श्रीमती स्वराज के आवास पर जाकर उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की। अपने संदेश में उपराष्ट्रपति ने कहा कि श्रीमती स्वराज के आकस्मिक निधन से उन्हें गहरा आघात पहुंचा है। श्री नायडू ने उनके निधन को देश के लिए बहुत बड़ी क्षति और अपने लिए व्यक्तिगत नुकसान बताया। उन्होंने कहा, 'वह उत्कृष्ट प्रशासक, बेहतरीन सांसद और असाधारण वक्ता थीं। शोक संतप्त परिवार के प्रति मैं हार्दिक संवेदना प्रकट करता हूं।' बाद में फेसबुक पर श्री नायडू ने श्रीमती स्वराज और उनके परिवार के साथ अपने लम्बे और करीबी संबंधों को याद किया और कहा कि वह हर साल उन्हें राखी बांधा करती थीं। उपराष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने निस्वार्थ भाव से देश की सेवा की। श्री नायडू ने उन्हें निष्ठा, गरिमा और शिष्टता का मूर्त रूप बताया। उन्होंने कहा कि श्रीमती स्वराज को उनके मानवीय और करुणापूर्ण स्वभाव के लिए जाना जाता था और वह तकलीफ से घिरे लोगों की हमेशा मदद करती थीं।