उत्तर प्रदेश के मंत्रियों व नेताओं ने आर्टिकल 370/35 ए निरस्त किये जाने पर दी अपनी प्रतिक्रिया

योगी आदित्यनाथ ने ट्रीट किया कि, 'माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के संसद में धारा 370 को हटाने को लेकर दिए गए संबोधन को सुनें, गुनें और समझें, देश हित में उठाया गया यह कदम हम सभी भारतवासियों के लिए गर्व का विषय है।'



डॉ दिनेश शर्मा ने द्वीट किया कि, 'यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की सरकार का अनुच्छेद 370 को हटाने का ऐतिहासिक निर्णय एक राष्ट्र, एक निशान एक विधान का संकल्प पूरा कर रहा है।यशस्वी प्रधानमंत्री मा.नरेन्द्र मोदी जी व गृहमंत्री श्री अमित शाह जी का इस गौरवशाली क्षण को प्रदान करने केलिए हृदय से अभिनन्दन।'



केशव प्रसाद मौर्य ने द्वीट किया कि, 'एक देश में दो विधान, दो प्रधान, दो निशान नही हो सकता। - आदरणीय श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी। यही हमारी आदरणीय मुखर्जी जी के प्रति श्रद्धांजलि है। सभी देशवासियों को बधाई।



सतीश महाना ने द्वीट किया कि, 'सौभाग्य है हम सब इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी है। अब भारत एक है।'



स्वतंत्र देव सिंह ने द्वीट किया कि, 'जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है और सारा का सारा है। सभी राष्ट्रभक्त भारतीयों के लिए गौरवमयी क्षण, वर्षों से कलंक आर्टिकल ३७० का ध्वस्तीकरण भारत माता का ललाट ऊँचा करने वाला है। अब एक ही संविधान, एक ही प्रधान और एक ही निशान। जय हिंद..भारत माता की जय।



आशुतोष टंडन ने द्वीट किया कि, 'राज्यसभा में ऐतिहासिक जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पारित होने पर आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी व माननीय गृहमंत्री श्रीअमित शाह जी का हार्दिक अभिनंदन। इस विधेयक के पारित होने के साथ ही अब जम्मू-कश्मीर विकास के पथ पर अग्रसर होगा और देश की मुख्य धारा में सम्मलित हो कर विकासयात्रा में अपनी सहभागिता देगा।'



सिद्धार्थनाथ सिंह ने द्वीट किया कि, ' जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल के राज्यसभा से पास होने पर मा प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं माo श्री अमित शाह जी का हार्दिक आभार एवं देशवासियों को हार्दिक बधाई। उन सभी सांसदों का भी हार्दिक अभिनंदन जिन्होंने राजनैतिक स्वार्थ से परे जाकर इस ऐतिहासिक संकल्प का समर्थन किया।माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी को जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पर राज्यसभा में दिए गए उनके उत्कृष्ट तथा विशिष्ट भाषण के लिए बहुत बहुत बधाई एवं उनका हार्दिक अभिनंदन ।'



अनुप्रिया पटेल ने द्वीट किया कि, 'बड़े निर्णय के लिए ढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत होती है। आजादी के बाद रजवाड़ों के विलय में यह ढ़ इच्छाशक्ति लौहपुरूष सरदार पटेल ने दिखाई थी। अब दशकों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और गृह मंत्री अमित शाह जी ने वैसी हट ढ राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखाई है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर मोदी जी और अमित शाह जी को बधाई। राष्ट्रहित में लिये गए इस निर्णय का हमारी पार्टी अपना दल समर्थन करती है।'