बुमराह नि:संदेह मौजूदा समय के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज: ब्रेट ली


अहमदाबाद - ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर तथा सर्वकालिक श्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक ब्रेट ली ने गुरुवार को कहा कि भारतीय खिलाड़ी जसप्रीत बुमराह नि:संदेह मौजूदा समय के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज हैं। सुनने से जुड़े उपकरण बनाने वाली आस्ट्रेलियाई कंपनी कोचेलियर के ब्रांड एंबेसेडर के तौर पर यहां आये 42 वर्षीय ली ने, यहां बी जे मेडिकल कॉलेज में एक कार्यक्रम में कहा कि बुमराह ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया है और वह इस समय विश्व के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज हैं। उल्लेखनीय है कि आईसीसी वनडे रैंकिंग में शीर्ष पर मौजूद बुमराह गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले हैंएक प्रश्न के जवाब में ली ने कहा कि उन्हें सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और एम एस धोनी समेत उनके समय के सभी भारतीय बल्लेबाजों को गेंदबाजी करने में परेशानी होती थी। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि उन्हें तो सभी भारतीय बल्लेबाजों को लेकर डरावने सपने मे आते थे। उनके जीवन के सबसे कठिन क्षणों के बारे में पूछे जाने पर ली ने कहा कि वैसे तो जीवन और पेशेवर करियर में ऐसे कई क्षण आये है पर वह क्षण उन्हें विशेष तौर पर याद है जब उनका बेटा गिर गया था और अ थायी तौर पर उसकी सुनने की शक्ति समाप्त हो गयी थी। उन्होंने सुनने से संबंधी बीमारियों के बारे में जागरूकता और इसके जल्द इलाज की जरूरत पर भी जोर दिया। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने गुरुवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान हिन्दी शब्दों और वाक्यांशों के सामयिक और मनोरंजक इस्तेमाल से दर्शकों को भौचक्का कर दिया। 42 वर्षीय ली, जिन्होंने भारत में खासा समय बिताया है, ने यहां बी जे मेडिकल कॉलेज में एक कार्यक्रम में अपने संबोधन तथा दर्शकों के साथ संवाद के दौरान हिन्दी शब्दों का चतुराई भरा इस्तेमाल कर लोगों का भरपूर मनोरंजन किया और कई बार उन्हें हक्का-बक्का तक कर दिया। लोगों ने भी खूब तालियां बजा कर उनके हिन्दी ज्ञान की सराहना की। ली से जब एक दर्शक ने पूछा कि किस भारतीय खिलाड़ी से उन्हें डर लगता था तो उन्होंने जवाब देने से पहले हिन्दी में कहा, 'आराम से, आराम से। उन्होंने वहां आये एक छोटे बच्चे का भी हिन्दी में अभिवादन किया और कहा कि उन्हें गुजराती तो नहीं आती पर हिन्दी थोड़ी-थोड़ी आती है। पूरा कार्यक्रम स्थल हंसी के ठहाकों से उस वक्त गूंज उठा जब ली ने कहा कि वह चाहते हैं कि उनसे अंतिम सवाल पिछली पंक्ति से कोई 'सुदंर सी लरकी (लड़की)' पूछे और जब एक लड़के ने ऐसा करना शुरू किया तो उन्होंने कहा, 'ओह ये तो लरका (लड़का) है।' उन्हा ने खुशी हुई और जीतेगा इंडिया' जैसे शब्दों का भी प्रयोग किया। दर्शक एक बार फिर ठहाके लगाने लगे जब ली ने अपने साथ आये एक विदेशी व्यक्ति को गोरा और फिरंगी' कह कर संबोधित किया।


 


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति