जूनियर महिला राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता: हरियाणा का दबदबा कायम, 7 स्वर्ण समेत 12 पदक

> महाराष्ट्र की अल्फिया तरन्नुम (+80 किग्रा) ने फाइनल में पंजाब की यश्वी को हराया।


> हरियाणा की तन्नू (52 किग्रा) ने फाइनल में मणिपुर की शगोलसेम बिजेटा को हराकर स्वर्ण पदक जीता।


> राज थान की ईशा गुर्जर को हराकर मणिपुर की हुइद्रोम अंबेशोरी देवी (57 किग्रा) ने फाइनल में स्वर्ण पदक जीता।


> चंडीगढ़ की दीया नेगी को पछाड़ने के बाद हरियाणा की प्रीति धैया (60 किग्रा) ने फाइनल में बाजी मारी।


> हरियाणा की ख़ुशी (63 किग्रा) ने फाइनल में गोवा की आघ्या को पराजित करने के बाद बाजी मारी।


> मध्यप्रदेश की माही लामा (67 किग्रा) ने फाइनल में हरियाणा की लशु को हराकर बाजी मारी।


> पंजाब की अंजलि को हराने के बाद महाराष्ट्र की शारवरी काल यंकर (70 किग्रा) ने फाइनल में जीत हासिल की।


> महाराष्ट्र की तनिष्कपेल को पछाड़ने के बाद पंजाब के तनिष्क सिंह (80 किग्रा) ने फाइनल में स्वर्ण पदक जीता।



रोहतक - हरियाणा ने तीसरी जूनियर महिला राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता में अपना दबदबा बनाते हुए सात स्वर्ण सहित 12 पदक जीत लिए। हरियाणा ने सात स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य सहित 12 पदक जीतकर 63 अंकों के साथ तालिका में शीर्ष थान हासिल किया। मणिपुर 33 अंकों के साथ दूसरे और महाराष्ट्र 31 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा। मणिपुर ने एक स्वर्ण, तीन रजत और चार कांस्य सहित आठ पदक जीते जबकि महाराष्ट्र ने दो स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य सहित छह पदक जीते। पंजाब को दो स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य तथा 28 अंकों के साथ चौथा स्थान मिला।


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति