मिथाली राज ने अंतर्राष्ट्रीय ट्वेंटी - 20 क्रिकेट से लिया सन्यास


नयी दिल्ली  - क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारुपद्वंटी-20 में अपने प्रदर्शन और चयन को लेकर हाल में कई विवाद देखने वाली भारतीय महिला टीम की अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज ने मंगलवार को टुंटी-20 क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दीवर्ष 2006 में भारतीय महिला ट्वंटी-20 टीम की पहली कप्तान रहीं मिताली ने कुल 89 अंतर्राष्ट्रीय द्वंटी-20 मैच खेले और 2364 रन बनाए। मिताली इस प्रारुप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं। उन्होंने टुंटी-20 के 32 मैचों में कप्तानी की जिनमें 2012, 2014 और 2016 विश्वकपशामिल हैं। मिताली ने गुवाहाटी में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी ट्वंटी-20 मैच खेला था जिसमें उन्होंने 30 गेंदों में नाबाद 32 रन बनाए थे। मिताली भारत की पहली महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने ट्वंटी-20 में 2000 रन बनाए हैं। वह इस प्रारुप में दुनिया की छठी सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। संन्यास लेने के बाद मिताली ने कहा, “वर्ष 2006 से भारतीय ट्वंटी-20 टीम का हिस्सा रहने के बाद अब मैं इस प्रारुप से संन्यास लेना चाहती हूं और अपना पूरा ध्यान 2021 एकदिवसीय विश्वकपके लिए केंद्रित करना चाहती हूं। मेरा सपना है कि मैं देश के लिए विश्वकप जीतूं और इसके मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगी।" उन्होंने कहा, “मैं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को लगातार मेरा समर्थन करने के लिए धन्यवाद देना चाहती हूं और भारतीय टुंटी-20 महिला टीम को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए शुभकामनाएं देती हूं।" उल्लेखनीय है कि मिताली का कुछ महीने पहले टीम के पूर्व कोच रमेश पोवार के साथ विवाद हुआ था जिसके बाद बीसीसीआई ने पोवार को उनके पद से हटा दिया था। हालांकि मिताली पिछले कुछ समय से ट्वंटी-20 टीम में जगह बनाने में नाकाम रही थीं।


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति