नडाल के अनुभव से पार नहीं पा सके डेनिल मेदवेदेव, नडाल का 19वां ग्रैंड स्लेम खिताब


न्यूयॉर्क - विश्व के दूसरे नंबर के खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल ने पांच सेटों के मैराथन संघर्ष में रविवार को पांचवीं सीड रूस के डेनिल मेदवेदेव को 7-5, 6-3, 5-7, 4-6, 6-4 से हराकर वर्ष के चौथे और अंतिम ग्रैंड स्लेम यूएस ओपन का खिताब जीत लिया। नडाल के शानदार करियर का यह 19वां ग्रैंड स्लेम खिताब है। नडाल ने खिताबी मुकाबले चार घंटे 49 मिनट के कड़े संघर्ष में जीत हासिल की। पहली बार ग्रैंड स्लेम फाइनल खेल रहे मेदवेदेव का इस हार के साथ अपना पहला ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने का सपना टूट गया। मेदवेदेव फाइनल में हारे तो लेकिन उन्होंने दिग्गज नडाल के खिलाफ जबरदस्त संघर्ष कर सबका दिल जीत लिया। नडाल का यह चौथायएस ओपन खिताब है और इसके साथ ही उनके कुल 19 ग्रैंड स्लेम खिताब हो गये हैं। वह अब स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के 20 ग्रैंड स्लेम खिताबों के बराबरी करने से एक खिताब दर रह गए हैंनडाल ने इससे पहले 2010.2013 और 2017 में यएस ओपन का खिताब जीता था। नडाल एक बार ऑस्ट्रेलियन ओपन, 12 बार फ्रेंच ओपन और दो बार विंबलडन का खिताब जीत चुके हैं। इस साल फ्रेंच ओपन का खिताब भी जीत चुके नडाल ने मैच में 21 मौकों में से छह बार मेदवेदेव की सर्विस तोड़ी जबकि मेदवेदेव ने 15 मौकों में से पांच बार नडाल की सर्विस तोड़ी। नडाल ने 62 विनर्स लगाए और 46 बेजां भूलें की जबकि मेदवेदेव ने 75 विनर्स लगाए लेकिन 57 बेजां भूलें भी की।नडाल ने पहले दो सेट जीत लिए थे और तब लग रहा था कि वह आसानी से खिताबी मुकाबला समाप्त कर देंगे। लेकिन 23 साल के मेदवेदेव के इरादे कुछ और थे और उन्होंने वापसी करते हए अगले दो सेट जीतकर मुकाबले में 2-2 की बराबरी कर ली। निर्णायक सेट में स्पेनिश मास्टर ने अपना तमाम अनुभव झोंकते हुए यह सेट 6-4 से अपने नाम किया और चौथी बार यूएस ओपन चैंपियन बन गएस्पेन के दिग्गज खिलाडी अपने 19वें ग्रैंड स्लेम खिताब के साथ अब ऑलटाइम सची में फेडरर के बाद दसस् थान पर पहुंच गए हैं। सर्बिया के नोवाक जोकोविच 16 खिताबों के साथ इस सूची में तीसरेस् थान पर हैं। ट्राफी जीतने के बाद अपनी आंखों में आए आंसू पोंछते हुए नडाल ने कहा, “यह जीत मेरे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। खास तौर पर यह देखते हुए कि मैच लगातार मुश्किल होता जा रहा थामैं खुद को नियंत्रित करने में सफल रहा और यही मेरी जीत का कारण रहा। यह एक शानदार फाइनल था। डेनिल की उम्र मात्र 23 साल है और जिस तरह उन्होंने संघर्ष किया मुझे लगता है कि उनके सामने एक शानदार भविष्य है।” मेदवेदेव ने इस साल वॉशिंगटन ओपन, कनाडा ओपन, सिनसिनाटी मास्टर्स के बाद यूएस ओपन के फाइनल में जगह बनाई थी, लेकिन फाइनल में वह नडाल के अनुभव के से पार नहीं पा सके। इससे पहले भी कनाडा ओपन के फाइनल में भी नडाल ने मेदवेदेव को हराया था।नडाल इस सत्र में दो ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने के अलावा ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में भी पहुंचे थे। उन्होंने एटीपी रेस टू लंदन में जोकोविच पर अपनी बढ़त 1960 पहुंचा दी है और वह पांचवें वर्ष एटीपी रैंकिंग का समापन नंबर एक से करने की होड़ में शामिल हो गए हैं। स्पेनिश मास्टर का यह तीसरा पांच सेटों का फाइनल था। उन्होंने इससे पहले 2008 के विंबलडन और 2009 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में फेडरर को पांच सेटों में हराया था। वह अब यूएस ओपन को सर्वाधिक बार जीतने के मामले के अमेरिका के जॉन मैकनरो की बराबरी पर संयुक्त दूसरेर थान पर पहुंच गए हैं। मैकनरो ने भी चार बार यह खिताब जीता था। यूएस ओपन को सर्वाधिक पांच बार जीतने का रिकॉर्ड अमेरिका के जिमी कोनर्स और पीट सम्प्रास तथा फेडरर के नाम है। नडाल की इस सत्र में यह 47वीं जीत है और वह 50 जीत हासिल कर चुके मेदवेदेव के करीब पहुंच रहे हैं। इस हार से मेदवेदेव का 2005 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में मरात साफिन के बाद कोई ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने वाला रुसी खिलाड़ी बनने का सपना टूट गया। 


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति