फेनी चक्रवात से हजारों की रक्षा करने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने भारत के कार्यों को सराहा: डॉ हर्षवर्धन

>डॉ हर्षवर्धन ने दक्षिण-पूर्व एशिया के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन क्षेत्रीय समिति के 72वें सत्र में आपात तैयारी' पर मंत्रिस्तरीय गोलमेज सम्मेलन की अध्यक्षता की।


> डब्ल्यूएचओ मंत्रिमंडल प्रमुख और भूटान की स्वास्थ्य मंत्री के साथ साईकिल से बैठकर थल पर पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन।


> योग उच्च रक्तचाप, मोटापा और मधुमेह जैसे रोगों से लड़ने में करता है सहायता: डॉ हर्षवर्धन



केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन 03 सितंबर, 2019 को नई दिल्ली में दक्षिण-पूर्व एशिया के विश्व स्वास्थ्य संगठन क्षेत्रीय कार्यालय (एसईएआरओ) की 72वीं बैठक के आयोजन स्थल होटल हयात रीजेंसी में साइक्लिंग करते हुए।


नई दिल्ली - स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत हर्ष हो रहा है कि भारत, दक्षिण-पूर्व एशिया स्वास्थ्य आपात मोचन निधि के तहत स्थति से निपटने के लिए तैयारी के लिए 200,000 अमेरिकी डॉलर का योगदान करेगा। उन्होंने मंगलवार को नई दिल्ली में दक्षिण-पूर्व एशिया विश्व स्वास्थ्य संगठन क्षेत्रीय कार्यालय (सियरो) के 72वें सत्र में 'आपात तैयारी' पर मंत्रिस्तरीय गोलमेज सम्मेलन के दूसरे दिन यह कहा। विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के स्वास्थ्य मंत्रियों ने आपात तैयारी पर दिल्लीघोषणापत्र पर हस्ताक्षर किए। इसके पूर्व मंगलवार सुबह डॉ. हर्षवर्धन, विश्व स्वास्थ्य संगठन के मंत्रिमंडल प्रमुख डॉ. बर्नार्ड श्वार्टलैंडर तथा भूटान की स्वास्थ्य मंत्री सुश्री डेचन वांगनो के साथ साइकिल से बैठकर थल रवाना हुए। इसका उद्देश्य लोगों में सकारात्मक और स्वास्थ्य वर्धक जीवन शैली अपनाने और स्वास्थ्य को प्रोत्साहन देना था। इसके बाद डॉ. हर्षवर्धन ने बैठकर थल पर योग सत्र का नेतृत्व किया, जिसमें 11 सियरो देशों में से 8 देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों और प्रतिनिधियों ने योगाभ्यास किया। योग सत्र के बाद स्वास्थ्य मंत्रियों और प्रतिनिधियों ने साइकिल चलाईडॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र आमसभा का आह्वान किया था कि योग को स्वास्थ्य और आरोग्य के लिए मान्यता दी जाए। उन्होंने कहा कि हमें खुशी है कि संयुक्त राष्ट्र आमसभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में स्वीकार किया हैडॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि ईट राइट इंडिया' अभियान के साथ योग उच्च रक्तचाप, मोटापा और मधुमेह जैसे रोगों से लड़ने में सहायता करता है। उन्होंने कहा कि हमारे दूरदर्शी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अभी हाल में 'फिट इंडिया' आंदोलन की शुरूआत की है, ताकि देशवासियों को फिट रहने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। पूर्व तैयारी और आपदा प्रबंधन के संदर्भ में फेनी चक्रवात के अध्ययन का उल्लेख करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि सटीक मौसम भविष्यवाणी, कारगर पूर्व चेतावनी, लगभग 1.15 मिलियन लोगों को समय पर निकालने और उन्हें 6575 चक्रवात पनाहगाहों तक पहुंचाने जैसी ठोस तैयारी की बदौलत तमाम जानों की रक्षा करने में सहायता मिली है। उन्होंने कहा कि चक्रवात के दौरान तमाम रोगों को नियंत्रण करने के लिए विशेष सतर्कता बरती गई, जिसके कारण किसी भी प्रकार की महामारी नहीं फैली। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि फेनी चक्रवात की सटीक भविष्यवाणी करने और हजारों जानों की रक्षा करने के लिए संयुक्त राष्ट्र तथा अन्य कई अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों ने भारत की सराहना की है। मंत्रिस्तरीय गोलमेज सम्मेलन में विश्व स्वास्थ्य संगठन दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के 11 देशों में से 8 देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों, विश्व स्वास्थ्य संगठन दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह और स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने शिरकत की। भारत दूसरी बार क्षेत्रीय समिति की बैठक की मेज़बानी कर रहा है। इसके पहले वाली बैठक की भी भारत ने ही नई दिल्ली में मेज़बानी की थी।



केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन 03 सितंबर, 2019 को नई दिल्ली में दक्षिण-पूर्व एशिया के विश्व स्वास्थ्य संगठन क्षेत्रीय कार्यालय (एसईएआरओ) की 72वीं बैठक के आयोजन स्थल होटल हयात रीजेंसी में आयोजित योग सत्र में शिरकत करते हुए।


 


 


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति