फिरोजाबाद की ग्लास इण्डस्ट्री ने जनपद को दिलायी है वैश्विक पहचान: योगी आदित्यनाथ

391 करोड़ रु0 की लागत की 129 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 32 परियोजनाओं का शिलान्यास।


“एक जनपद, एक उत्पाद' योजना के माध्यम से जनपद के कांच उत्पाद उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार भरपूर मदद करेगी।



लखनऊ - उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को जनपद फिरोजाबाद के टूण्डला में 391 करोड़ रुपए की लागत की 129 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 32 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने 16 लाभार्थियों को विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रमाण पत्र वितरित किए। उन्होंने केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में विभागों द्वारा आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन किया।



इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में पूरे प्रदेश का समग्रता के साथ विकास हर क्षेत्र में हो रहा है। 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' की परिकल्पना को पूर्ण रूप से साकार किया जा रहा है। फिरोजाबाद की जनता में अपार ऊर्जा व सम्भावनाएं हैं। यहां की ग्लास इण्डस्ट्री ने इस जनपद को वैश्विक पहचान दिलायी है। यहां के उद्यमियों की कार्यकुशलता व प्रबन्धन सराहनीय है। 'एक जनपद, एक उत्पाद' योजना के माध्यम से जनपद के कांच उत्पाद उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार भरपूर मदद करेगी।



मुख्यमंत्री ने कहा कि 'हर घर जल योजना के तहत डार्क जोन तथा फ्लोराइड लवण युक्त जल वाले जनपदों में प्राथमिकता पर शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जाएगी। आलू उत्पादक किसानों की सुविधा के लिए क्षेत्र में एक इण्टरनेशनल सेण्टर विकसित किया जाएगा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रत्येक किसान को 6000 रुपए प्रतिवर्ष की आर्थिक सहायता दी जा रही है। सरकारी भर्तियों में व्याप्त भ्रष्टाचार को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है। अब सभी भर्तियां पूरी पारदर्शिता के साथ की जा रही हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गम्भीर बीमारियों में महंगे इलाज से गरीबों को बचाने के लिए आयुष्मान योजना के अन्तर्गत पूरे देश में 60 करोड़ लोगों को आच्छादित किया गया है। इस योजना से छूटे हुए प्रदेश के 56 लाख लोगों को मुख्यमंत्री आरोग्य योजना से लाभान्वित किया जाएगा। प्रदेश सरकार नारी सशक्तिकरण की दिशा में तेजी से कार्य कर रही है 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ', स्वच्छ शौचालय, सुपोषण योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना सहित विभिन्न जनहितकारी योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को बराबरी का अधिकार प्रदान किया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री  ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, मछुआ आवास योजना, किसान क्रेडिट कार्ड योजना, किसान सर्वहित बीमा योजना आदि योजनाओं के लाभार्थियों को मंच पर प्रमाण पत्र प्रदान किए। कार्यक्रम को सांसद डॉ0 चंद्रसेन जादौन एवं सांसद डॉ0 एस0पी0 सिंह बघेल ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, ग्राम्य विकास मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह 'मोती सिंह' सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति