पिछले तीन वर्षों में 50 रेलवे इकाइयों ने प्राप्त किया ग्रीनको प्रमाण पत्र

>भारतीय रेलवे ने हरित पहलों को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। 



रेल राज्य मंत्री श्री सुरेश अंगडी 13 सितंबरको नई दिल्ली में भारतीय रेल में हरित पहलों की सुविधा के लिए रेल मंत्रालय और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के लिए आयोजित समारोह में उपस्थित है।


नई दिल्ली - भारतीय रेलवे ने ग्लोबल वार्मिंग को कम करने और जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत के योगदान के तहत कुछ प्रमुख हरित पहले शुरू की हैं। इन हरित पहलों को आगे बढ़ाने के लिए रेल राज्य मंत्री सुरेश सी. अंगाड़ी, सीआईआई के महानिदेशक चन्द्रजीत बनर्जी, रोलिंग स्टॉक सदस्य राजेश अग्रवाल और रेलवे बोर्ड के अन्य अधिकारियों की उप िथति में रेल मंत्रालय और भारतीय उद्योग परिसंघ के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर रेल राज्य मंत्री सुरेश सी अंगाड़ी ने कहा कि स्वच्छता एक आंदोलन बन गया है। प्रधानमंत्री से प्रेरणा लेकर इस मोर्चे पर देश भर में लोगों की बड़ी संख्या में भागीदारी देखने को मिल रही है। रेलवे में भी स्वच्छता सुनिश्चित करने और ट्रेनों तथा स्टेशन परिसरों को स्वच्छ रखने के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने इस दिशा में रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि कार्यशालाओं और उत्पादन इकाइयों सहित 50 रेलवे इकाइयों, 12 रेलवे स्टेशनों और 16 और इमारतों तथा अन्य सुविधाओं ने हरित प्रमाण पत्र प्राप्त कर लिया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि रेलवे की कुछ और उत्पादन इकाइयों तथा कार्यशालाओं को इसी तरह के हरित प्रमाण पत्र मिलेंगे।


समझौता ज्ञापन का उद्देश्य है -


1. निर्माण सुविधाओं और रेलवे कार्यशालाओं में ऊर्जा दक्षता। 


2. रेलवे संपत्तियों का हरितकरण । 


3. 'नेट जीरो एनर्जी बिल्डिंग/रेलवे स्टेशनों के एक्सपेरिमेंटल गाइड।


4. प्रशिक्षण कार्यक्रमों के जरिये ऊर्जा और पर्यावरण पर सर्वश्रेष्ठ कार्य प्रणाली को निरंतर साझा कर क्षमता और कौशल विकास।


5. हरित खरीद नीति, कचरा प्रबंधन नीति, ठोस कचरे का निपटारा, कार्बन नियंत्रण, फाइटोरेमेडियेशन । 


समझौता ज्ञापन की परिकल्पना के अनुसार भारतीय रेलवे द्वारा किये गए प्रयासों के तहत 3 कॉफी टेबल प्रकाशन को भी बड़े पैमाने पर प्रचारित करने के लिए जारी किया गया। इनमें से प्रत्येक ऊर्जा दक्षता, ग्रीनको रेटिंग और ग्रीन बिल्डिंग (रेलवे स्टेशनों सहित) से संबंधित है। भारतीय रेलवे की उत्पादन इकाइयों और प्रमुख कार्यशालाओं की हरित रेटिंग और ऊर्जा दक्षता अध्ययन पर 2016 में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर होने के बाद से भारतीय रेलवे और सीआईआई मिलकर काम कर रहे हैं तथा पिछले तीन वर्षों में आकलन के बाद, कार्यशाला और उत्पादन इकाइयों सहित 50 रेलवे इकाइयों ने ग्रीनको प्रमाण पत्र प्राप्त किया हैसीआईआई द्वारा विकसित ग्रीनको रेटिंग प्रणाली हरित पहल और पर्यावरण को बनाए रखने का कार्य कर रही औद्योगिक इकाइयों की कामकाज दर का मूल्यांकन करती है तथा हरित इमारत, हरित परिसर और हरित स्कूल आदि को प्रमाण पत्र देती है।


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ0प्र0 सरकारी सेवक (पदोन्नति द्वारा भर्ती के लिए मानदण्ड) (चतुर्थ संशोधन) नियमावली-2019 के प्रख्यापन को मंजूरी

स्वामित्व योजना के कार्यान्वयन के लिए उ प्र आबादी सर्वेक्षण और अभिलेख संक्रिया विनियमावली, 2020 के प्रख्यापन के प्रस्ताव को स्वीकृति