रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद की बैठक में मेक इन इंडिया' को बढ़ावा

>रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) ने लगभग 2,000 करोड़ रुपये की राशि के लिए पूंजीगत खरीद के लिए अनुमोदन प्रदान किया।



नई दिल्ली - रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) की बैठक के दौरान 'मेक इन इंडिया' को बढ़ावा देते हुए सेना के लिए लगभग 2,000 करोड़ रुपये की खरीद को मंजूरी दी गई। मेक इन इंडिया' पहल के मद्देनजर टी-72/टी-90 टैंकों के लिए डीएसी ने 125 एमएम आर्मर पियरसिंग फिन स्टेबलाइज्ड डिस्कार्डिंग-सैबट (एपीएफएसडीएस) को भारतीय उद्योग द्वारा उत्पादित करने और उसके विकास को मंजूरी दी हैइससे दुश्मन की हमलावर क्षमता को भेदने में बहुत सहायता होगी। डीएसी ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित और उद्योग द्वारा निर्मित मैकेनिकल माइन लेयर (सेल्फ प्रोपेल्ड) की खरीद को भी मंजूरी दी, ताकि भारतीय सेना की बारूदी सुरंग बिछाने की क्षमता में सुधार हो सके।