रेल मंत्रालय को 2018 - 19 के लिए स्वच्छता कार्य योजना के कार्यान्वयन के लिए सर्वश्रेष्ठ मंत्रालय घोषित

>राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने प्रदान किए स्वच्छता पुरस्कार।


> स्वच्छ भारत मिशन के तहत छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसटी), मुंबई को सवश्रेष्ठ स्वच्छ प्रतिष्ठित स्थल का पुरस्कार दिया गया।



राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 2018 - 19 के लिए स्वच्छता कार्य योजना के कार्यान्वयन के लिए भारतीय रेल को सर्वश्रेष्ठ मंत्रालय का पुरस्कार प्रदान किया। भारतीय रेल की ओर से रेलवे बोर्ड के चैयरमेन विनोद कुमार यादव ने पुरसकार प्रापत किया। राषटपति ने सवचछ भारत मिशन के तहत छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल (सीएसटी), मंबई को सतश्रेषठ सवचछ प्रतिष्ठित सथल का परसकार प्रदान किया। 2018 के स्वच्छता सर्वेक्षण के तीन सबसे स्वच्छ स्टेशनों- जोधपुर, जयपुर और तिरुपति को भी पुरस्कार प्राप्त हुए। रेल, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने सभी रेल कर्मियों से आग्रह किया कि वे स्वच्छता को संगठन की संस्कृति बनाए तथा 2 अक्टूबर, 2019 से 10 दिनों के लिए सभी ट्रेनों और स्टेशनों में स्वच्छता कार्यक्रम चलाए।



भारतीय रेल ने 2018 - 19 के दौरान अपनी परिसंपत्तियों की स्वच्छता पर 3000 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की है। रेलवे बोर्ड के चैयरमेन विनोद कुमार यादव जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए स्वच्छता पर निरंतर विचार - विमर्श करते हैं। पुरस्कार समारोह के बाद यादव ने जोनल रेलवे तथा मंडल रेलवे के क्रमश: महाप्रबंधकों और रेल प्रबंधकों को बधाई दी। श्री यादव ने ट्रेनों में और स्टेशनों पर स्वच्छता की स्थति और बेहतर करने के उपायों पर महाप्रबंधकों तथा रेल प्रबंधकों के साथ चर्चा की।