सीएम योगी ने कॉरपोरेट ट्रेन लखनऊ -नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस को झण्डी दिखाकर रवाना किया

> मुख्यमंत्री ने ट्रेन का अवलोकन किया तथा यात्रियों को बधाई दी।


> ट्रांसपोर्ट सिस्टम को बेहतर करना आज की मांग, पहली कॉरपोरेट ट्रेन के संचालन से इस दिशा में एक नया युग प्रारम्भ : योगी आदित्यनाथ



लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आई0आर0सी0टी0सी0 द्वारा संचालित देश की प्रथम कॉरपोरेट ट्रेन लखनऊ जंक्शन-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस को झण्डी दिखाकर शुक्रवार को यहां लखनऊ जंक्शन से रवाना किया। उत्तर प्रदेश को देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन की सुविधा प्रदान करने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल के प्रति आभार व्यक्त किया।



मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रगति के लिए स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का होना आवश्यक है। स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के माध्यम से ही नागरिकों को बेहतर सुविधाएं दी जा सकती हैं। उन्होंने मोबाइल फोन का उदाहरण देते हुए कहा कि एक समय मोबाइल से कॉल करना बहुत महंगा था, लेकिन आज मोबाइल एक कॉमन मैन की पहुंच में आ गया है। उन्होंने कहा कि संचार क्रांति ने देश व दुनिया को एक परिवार का रूप दिया है। ट्रांसपोर्ट सिस्टम को बेहतर करना आज की मांग है। इस दिशा में पहली कारपोरेट ट्रेन के संचालन से एक नए युग का प्रारम्भ हुआ है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल सस्ती, सुरक्षित व पयार्वरण हितैषी है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि आई0आर0टी0सी0 द्वारा अन्य शहरों के लिए भी इस तरह की ट्रेन संचालित किये जाने की आवश्यकता है। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री योगी ने ट्रेन का अवलोकन भी किया तथा यात्रियों को बधाई दी।



मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का मानना है कि देश के प्रत्येक नागरिक को बेहतर सुविधाएं प्राप्त हों। इसके अन्तर्गत एयर कनेक्टिविटी को बेहतर किया गया है। उड़ान (UDAN) योजना के माध्यम से आमजन तक हवाई सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ईको टूरिज्म की अपार सम्भावनाएं हैं, इसके दृष्टिगत आई0आर0सी0टी0सी0 द्वारा टॉय ट्रेन चलाने पर भी कार्य किया जाना चाहिए। ज्ञातव्य है कि इस अत्याधुनिक रेलगाड़ी में यात्रियों की सुविधा के लिए आरामदायक सीटें, पढ़ने हेतु रीडिंग लाइट्स, स्वचालित परदे, स्वचालित प्रवेश द्वार तथा इंफोटेनमेन्ट प्रणाली की व्यवस्था की गयी है। इसके अलावा, जी0पी0एस0 आधारित सूचना प्रणाली, अग्नि एवं धुआं सूचना प्रणाली, सी0सी0टी0वी0 कैमरे, सेंसर युक्त डस्टबिन, बायो टॉयलेट, शौचालय में बेहतर फिटिंग्स, एल0ई0डी0 बत्तियां, सौन्दर्यपरकता की दृष्टि से सुखद रंग योजना एवं यात्री सहायक को बुलाने के लिए सीट के ऊपर कॉल बटन की सुविधा भी इस ट्रेन की विशेषताओं में शामिल है।



इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री डॉ0 महेन्द्र सिंह, आशुतोष टण्डन, स्वाती सिंह, लखनऊ की महापौर  संयुक्ता भाटिया, जनप्रतिनिधिगण, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, सूचना निदेशक शिशिर सहित रेल मंत्रालय के अधिकारी मौजूद थे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद