आईआईटी कानपुर और न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी ने डुअल इंजीनियरिंग डॉक्टरल डिग्री कार्यक्रम शुरू किया

> भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर और न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय टंडन स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर इंजीनियरिंग छात्रों के लिए  डुअल डिग्री प्रदान करेगा।

> आने वाले वर्षों में इस साझेदारी का विस्तार हम विज्ञान और इंजीनियरिंग के अन्य क्षेत्रों में भी करेंगे: निदेशक, आईआईटी कानपुर

> एनवाईयू के साथ सहयोग करने वाला एशिया का पहला विश्वविद्यालय है आईआईटी कानपुर। 

> दोनों संस्थानों से डिग्री के साथ ग्रैजूएट होंगे डॉक्टरल विद्यार्थी।

 


चित्र बाईं तरफ से प्रो शिव पंवार (आईआईटी कानपुर, अलुम्नुस और टंडन स्कूल में ईसीई प्रोफेसर), प्रो वाई एम जोशी (डीन इंटरनेशनल रिलेशन्स, आईआईटी कानपुर), प्रो जयंत कुमार सिंह (डीन रिसोर्सेज और अलुमिनी), जेलेना कोवासेविक (डीन न्यूयोर्क यूनिवर्सिटी टंडन स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग), प्रो अभय करंदीकर (निदेशक, आईआईटी कानपुर), प्रो एस गणेश (डीन रिसर्च एंड डेवलपमेंट, आईआईटी कानपुर) व प्रो देबासिस कुंडू (डीन फैकल्टी अफेयर्स, आईआईटी कानपुर)।  

 

कानपुर ( का ० उ ० सम्पादन)। भारतीय  प्रौद्योगिकी  संस्थान, कानपुर और न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय टंडन स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग इलेक्ट्रिकल या कंप्यूटर इंजीनियरिंग छात्रों के लिए डुअल डिग्री प्रदान करेगा। दोनों संस्थानों के अधिकारियों ने पांच साल के समझौते पर हस्ताक्षर किए जो उस अंतरराष्ट्रीय सहयोग का विस्तार करेगा जिसे साइबर सुरक्षा में अनुसंधान और शिक्षा के लिए आपसी  साझेदारी के साथ औपचारिक रूप से 2016 में शुरू किया गया था। नवीनतम समझौते के तहत कंप्यूटर और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के छात्रों को किसी एक स्कूल में दाखिला लेने की अनुमति मिलेगी, फिर अपने डॉक्टरल पाठ्यक्रम के अंतिम दो वर्षों में दूसरे स्कूल से पाठ्यक्रम को पूरा करते हुए दोनों संस्थानों से डिग्री के साथ ग्रैजूएट होंगे।  आवेदकों को दोनों स्कूलों में अर्हक परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होगी और दोनों स्कूलों में सलाहकारों को उनके शोधकार्य को अनुमोदित और पर्यवेक्षण करना होगा, लेकिन कार्यक्रम में स्वीकार किए गए छात्रों के लिए केवल एक शोध प्रबंध की आवश्यकता होगी और सभी पाठ्यक्रम क्रेडिट स्थानांतरित हो जाएंगे। दोनों महाद्वीप से डॉक्टरल छात्रों के लिए, यह सहयोग सांस्कृतिक और शैक्षणिक विविधता की पेशकश करेगा जो कि वे आमतौर पर उनको केवल अपने देश को दो बार लम्बी अवधि के लिए छोड़कर जाने पर प्राप्त होता है। छात्रों को सहयोगी स्कूलों में पारस्परिक पूरक शैक्षणिक ताकत का भी लाभ मिलेगा। एनवाईयू टंडन और एनवाईयू सेण्टर फॉर साइबर सिक्योरिटी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अग्रणीय संस्था के रूप में स्वीकार किया जाता है, और आईआईटी कानपुर को साइबर सुरक्षा उत्कृष्टता के लिए जाना जाता है। हार्डवेयर की सुरक्षा में अनुसंधान को बढ़ावा देने वाले प्रतियोगिताओं पर जोर देते हुए यह अपने विशालकाय सीएसएडब्लू छात्र साइबर-सुरक्षा गेम पर एनवाईयू के साथ सहयोग करने वाला एशिया का पहला विश्वविद्यालय है। यह समझौता विज्ञान और इंजीनियरिंग के बढ़ते वैश्वीकरण को भी पहचानता है। आईआईटी कानपुर भारत के सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग स्कूलों में से एक है, जो इस वर्ष अपनी हीरक जयंती मना रहा है। एनवाईयू दुनिया भर में अकादमिक कार्यस्थल के साथ दुनिया के सबसे अग्रणी अनुसंधान विश्वविद्यालयों में से एक है। संस्थान के निदेशक प्रो अभय करंदीकर ने कहा- हम आईआईटी कानपुर में इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभागों के लिए डुअल डिग्री प्रोग्राम में एनवाईयू के साथ हाथ मिलाने के लिए उत्साहित हैं, हमें यकीन है कि यह कार्यक्रम सफल होगा। दोनों संस्थान महत्वपूर्ण शैक्षणिक और औद्योगिक समस्याओं के समाधान में सहयोगी कार्यों से लाभान्वित होंगे, जो उत्कृष्ट संकायों और छात्रों द्वारा किए जाएंगे। हम यह भी आशा करते हैं कि हम आने वाले वर्षों में इस साझेदारी का विस्तार विज्ञान और इंजीनियरिंग के अन्य क्षेत्रों में करेंगे । न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी (एनवाईयू) टंडन की डीन जेलेना कोवासेविक ने कहा - आईआईटी कानपुर और एनवाईयू टंडन के अनौपचारिक संबंधों ने पहले से ही उत्कृष्ट डॉक्टरेट उम्मीदवारों को अवसर प्रदान कर दिया है और इंजीनियरिंग एवं विज्ञान की दुनिया की अग्रणी संस्था के साथ सहयोग किया है। इसलिए हम इस नए अवसर के लिए अनुसंधान और शिक्षा में और भी अधिक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साथ जुड़ने के लिए तत्पर हैं। कोवासेविक एवं करंदीकर ने 22 नवंबर, 2019 को न्यूयॉर्क में समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। 

  

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी टंडन स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग के बारे में :  

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी (एनवाईयू) टंडन स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग,  न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ सिविल इंजीनियरिंग एंड आर्किटेक्चर और ब्रुकलिन कॉलेजिएट और पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट  (व्यापक रूप से ब्रुकलिन पॉली के रूप में जाना जाता है) । जनवरी 2014 के विलय ने इंजीनियरिंग और अनुप्रयुक्त विज्ञान में शिक्षा और अनुसंधान का एक व्यापक स्कूल बनाया, जो आविष्कार और उद्यमशीलता की परंपरा में निहित है और समाज की सेवा में प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने के लिए समर्पित है। ब्रुकलिन में अपने मुख्य स्थान के अलावा एनवाईयू टंडन, देश के अग्रणी निजी शोध विश्वविद्यालयों में से एक के साथ अन्य स्कूलों के साथ सहयोग करता है और एनवाईयू अबू धाबी और एनवाईयू शंघाई में इंजीनियरिंग कार्यक्रमों से निकटता से जुड़ा हुआ है। यह ब्रुकलिन में स्टार्ट-अप व्यवसायों पर केंद्रित फ्यूचर लैब्स और एक पुरस्कार विजेता ऑनलाइन स्नातक कार्यक्रम संचालित करता है। अधिक जानकारी के लिए, Engineering.nyu.edu पर विज़िट करें।

Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की