गोरखपुर नगर निगम के कार्यालय भवन का होगा नवीनीकरण

> गोरखपुर नगर निगम के कार्यालय भवन निर्माण की प्रायोजना में प्राविधानित उच्च विशिष्टियों का प्रस्ताव अनुमोदित।


> प्रस्तुत आगणन की प्राक्कलित धनराशि 2367.57 लाख रुपये की धनराशि, प्रायोजना रचना एवं मूल्यांकन प्रभाग द्वारा आंकलित की गयी है।



लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। मंत्रिपरिषद ने गोरखपुर नगर निगम के कार्यालय भवन निर्माण की प्रायोजना में प्राविधानित उच्च विशिष्टियों के प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया है। ज्ञातव्य है कि नगर निगम, गोरखपुर में 70 वार्ड हैं। इन वार्डों से निर्वाचित 70 पार्षदों तथा 10 नामित पार्षदों सहित नगर निगम, गोरखपुर के निकाय बोर्ड में कुल 80 पार्षद हैं। नगर निगम सदन की बैठक में 80 पाषर्दों, जनप्रतिनिधियों एवं अन्य महत्वपूर्ण नागरिकों द्वारा प्रतिभाग किया जाता है। वर्तमान नगर निगम भवन पुराना है, जिसमें निर्मित सदन भवन की क्षमता बैठक हेतु पर्याप्त नहीं है। नगर निगम, गोरखपुर सदन की बैठक दिनांक 30.05.2018 में कार्यालय भवन/सदन भवन निर्माण हेतु प्रस्ताव पारित किया गया। उक्त कार्य हेतु कांस्ट्रक्शन एण्ड डिजाइन सर्विसेज, उ0प्र0 जल निगम को कार्यदायी संस्था नामित किया गया है। कार्यालय भवन का निर्माण कराये जाने हेतु 2367.57 लाख रुपये का आगणन/प्रस्ताव सी0 एण्ड डी0एस0, उ0प्र0 जल निगम द्वारा तैयार किया गया है। प्रस्तुत आगणन की प्राक्कलित धनराशि 2367.57 लाख रुपये के सापेक्ष प्रायोजना हेतु 2345.07 लाख रुपये एवं नियमानुसार देय जी0एस0टी0 की धनराशि, प्रायोजना रचना एवं मूल्यांकन प्रभाग द्वारा आंकलित की गयी है। नगर निगम कार्यालय भवन निर्माण की प्रायोजना अन्तर्गत एकाॅस्टिकल वाल पैनेलिंग, सदन हाल एवं नगर निगम कार्यालय में फाॅल्स सीलिंग, सदन हाल में सेण्ट्रल एयर कण्डीश्निंग व पाॅलीकाॅर्बोनेट शीट आदि के प्रयोग से सम्बन्धित उच्च विशिष्टियां सम्मिलित हैं।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की