मेला श्री रामनगरिया की तैयारियां तेज, अधिकारीयों की भूमिकाएं तय

> मेला श्री रामनगरिया पॉलिथीन / प्लास्टिक मुक्त मेला होगा: जिलाधिकारी


> 15 दिन में शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं आया तो होगी कार्यवाही।



फर्रुखाबाद (का ० उ ० सम्पादन)।  जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्ष्ता में माघ मेला श्री रामनगरिया एवं विकास प्रदर्शनी समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। बैठक में विधायक सदर ने सुझाव देते हुए कहा कि मेला श्री रामनगरिया में दुकानों का आवंटन पारदर्शिता पूर्ण किया जाए। पैदल चलने वाले यात्रियों हेतु पुराणी घटिया से अस्थायी पुल बनवाया जाए, उसमें राम चरित्र एवं गंगा जी का उल्लेख अवश्य किया जाए। विकास प्रदर्शनी में ओ ० डी ० ओ ० पी योजनान्तर्गत जनपद में चयनित ज़रदोज़ी कार्य के स्टॉल अवश्य लगवाए जाएं। बैठक में जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी सदर को पुनः मेला श्री रामनगरिया की बैठक कराने के निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि सबसे पहले उप जिलाधिकारी, सदर समिति सदस्य एवं मेला श्री रामनगरिया का पूर्ण लेखा जोखा का विवरण उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि जो लोग सक्रीय नागरिक मेला श्री रामनगरिया समिति में सदस्य बनना चाहते हैं, उन्हें समिति में जोड़ा जाए। जिलाधिकारी ने बैठक में मेला श्री रामनगरिया का सफल आयोजन करने हेतु जनसहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि मेला श्री रामनगरिया पॉलिथीन / प्लास्टिक मुक्त मेला होगा। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि 15 दिन में शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं आया तो सम्बंधित अधिकारी / कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। जिलाधिकारी ने बैठक में कहा कि मेला श्री रामनगरिया में किसी प्रकार की अवैध वसूली नहीं होने दी जायेगी। मेला श्री रामनगरिया समिति के सदस्यों ने सुझाव प्रस्तुत करते हुए कहा कि मेला संयोजक समिति की बैठक अवश्य कराई जाए।  विगत वर्ष के सापेक्ष इस वर्ष अच्छे शौचालय बनवाये जाए।  पांचालघाट पुल पर जाली का कार्य पूर्ण कराया जाए। मेला समिति में रामजी, रामनगरिया एवं गंगा जी में आस्था / रूचि रखने वाले सक्रीय सदस्यों को ही रखा जाए। चाचूपुर मोड़ तक पटरी का निर्माण कार्य कराया जाए।  मेला समाप्त होने पर मेला परिसर की पूर्ण सफाई कराई जाए, उसको गन्दा ही न छोड़ दिया जाए। मेला समिति में युवाओं को भी जोड़ा जाए।  पांचालघाट पर रोड के किनारे अनाज की मंडी लगती है, मेला आयोजन तक मंडी पीछे लगवाई जाए। खुले में शौच जाने वालों पर जुरमाना की कार्यवाही की जाए।  महिला की सुरक्षा व्यवस्था एवं टिकट के नाम पर अवैध वसूली न की जाए। बैठक में विधायक सदर, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक, उप जिलाधिकारी सदर, क्षेत्राधिकारी पुलिस, जिला विकास अधिकारी, जिला पूर्ती अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, मेला प्रबंधक एवं सदस्य आदि उपस्थित थे।  


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की