राज्य सरकार ने किसान को खुशहाल करने का काम किया है: सीएम योगी

>मुख्यमंत्री ने जनपद बागपत में रमाला सहकारी चीनी मिल्स लि0 की पेराई क्षमता 2750 टी0सी0डी0 से 5000 टी0सी0डी0 के क्षमता विस्तार तथा 27 मेगावॉट को-जनरेशन प्लाण्ट का लोकार्पण किया।


> गढ़मुक्तेश्वर को हरिद्वार की तर्ज पर धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।


> हरिद्वार तक गंग नहर के किनारे टू-लेन सड़क बनवाने की घोषणा।


> सहारनपुर में विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा।


> रमाला चीनी मिल्स से 27 मेगावॉट की बिजली पैदा होगी, बागपत के क्षेत्रवासियों को अब बाहर से बिजली नहीं लेनी होगी।



लखनऊ (का ० उ ० डेस्क)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को जनपद बागपत में 330.14 करोड़ रुपए की लागत की रमाला सहकारी चीनी मिल्स लि0 की पेराई क्षमता 2750 टी0सी0डी0 से 5000 टी0सी0डी0 के क्षमता विस्तार तथा 27 मेगावॉट को-जनरेशन प्लाण्ट का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि सहारनपुर में विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा। गढ़मुक्तेश्वर को हरिद्वार की तर्ज पर धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने हरिद्वार तक गंग नहर के किनारे टू-लेन सड़क बनवाने की भी घोषणा की इससे श्रद्धालुओं को हरिद्वार तक सुविधा व सुरक्षा मिल सकेगी। योगी जी ने रमाला मिल परिसर में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि रमाला चीनी मिल का विस्तारीकरण होने से अगले 30 वर्षों तक बागपत के किसानों को कहीं नहीं भटकना पड़ेगा। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी को नमन करते हुए उन्होंने कहा कि वे किसानों के असली मसीहा थे। उन्होंने कहा कि किसान अन्नदाता है। यदि अन्नदाता खुशहाल होगा, तो हमारा देश व प्रदेश खुशहाल होगा। प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण हेतु दृढ़ संकल्पित है। यदि कोई किसानों की हित के साथ खिलवाड़ करेगा, तो उसको किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। योगी जी ने कहा कि किसान की खुशहाली प्रदेश के विकास का आधार है। किसानों के जीवन में खुशहाली लाने, उन्हें आत्मनिर्भर बनाकर और उनकी आय को दोगुना करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण के लिए कटिबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में किसानों के लिए गन्ना क्रय केन्द्र भी नहीं लग पाते थे, जो आज की वर्तमान सरकार में ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा किसानों को गन्ना क्रय केन्द्र के लिए अब भटकना नहीं पड़ेगा।



योगी जी ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार किसानों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर समाधान कर रही है। पूर्ववर्ती सरकारें किसानों द्वारा कोई मांग किए जाने पर उनका उत्पीड़न करती थीं। किसान अपनी आवाज नहीं उठा पाता था। अब ऐसा नहीं है। किसानों की समस्याओं का प्राथमिकता पर समाधान किया जाता है। पिछली सरकारों में किसानों को गन्ना भुगतान, योजनाओं का लाभ, बिजली आदि नहीं मिल पाती थी। किसान की यह एक बहुत गम्भीर समस्या और पीड़ा थी। वर्तमान केन्द्र और राज्य सरकार ने किसान को खुशहाल करने का काम किया है। योगी जी ने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश पहले दंगों के लिए जाना जाता था। लेकिन अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पूर्णतः दंगा खत्म हो चुका है। यहां के नौजवान, पुलिस विभाग व शिक्षा विभाग में भर्ती होकर शासकीय सेवाओं में योगदान दे रहे हैं। उन्होंने जनपद बागपत के गांव की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां के एक गांव से 27 नौजवानों का एक साथ भर्ती होने का रिकॉर्ड भी है।



योगी जी ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार किसानों, नौजवानों, महिलाओं और समाज के प्रत्येक तबके को केन्द्रित करते हुए उन्हें योजनाओं से लाभान्वित कर रही है। उत्तर प्रदेश 23 करोड़ की आबादी वाला प्रदेश है, जिसे उत्तम प्रदेश बनाने के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है। उन्होंने कहा किसानों के हक पर कोई डकैती नहीं डाल सकता। त्योहारों में कोई बाधा नहीं डाल सकता अगर कोई करता है, तो उन्हें पता है उनकी जगह कहां है। योगी जी ने कहा कि बागपत की रमाला चीनी मिल्स की विशेषता यह भी है कि यहां पर 27 मेगावॉट की बिजली पैदा होगी। बागपत के क्षेत्रवासियों को अब बाहर से बिजली नहीं लेनी होगी। गन्ने का एथनॉल बनाकर मार्केट में बेचने के बाद भी किसानों का भुगतान किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा 119 चीनी मिलों को पुन: संचालित कराया गयाइनमें से 03 नई चीनी मिलें इसी वर्ष संचालित की गई हैंउन्होंने कहा कि पहले 5-5 साल तक किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं मिलता था। लेकिन वर्तमान सरकार ने किसानों की इस समस्या को भी खत्म कर दिया है।



योगी जी ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा हेतु व्यापक स्तर पर कार्य योजना बनाकर उसे क्रियान्वित किया जा रहा है, ताकि महिलाओं एवं बेटियों को मान-सम्मान के साथ-साथ पूर्ण सुरक्षा प्रदान की जा सके। उन्होंने कहा कि यदि किसी महिला व बेटी के साथ कोई भी छेड़छाड़ आदि की घटना करता है, तो उसकी जगह जेल होगी। प्रदेश में महिला और बेटियों के लिए व्यापक योजनाएं चलाई जा रही हैं। प्रदेश में अब कानून का राज स्थापित है, जिसका उल्लंघन करने वाले को किसी भी हाल में नहीं बख्शा जाएगा। असामाजिक अपराधों में संलिप्त लोगों को चिन्हित करने की कार्रवाई की जा रही है। यदि कोई असामाजिक तत्व कानून का उल्लंघन करता है, तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर गन्ना विकास एवं चीनी मिलें मंत्री सुरेश राणा, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  धरम सिंह सैनी, गन्ना विकास एवं चीनी मिलें राज्यमंत्री सुरेश पासी, सांसद डॉ0 सत्यपाल सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग  संजय आर0 भूसरेड्डी तथा शासन-प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की