सीए प्रोसेस स्टडी कर कमज़ोर कड़ियों को दूर करते हुए मजबूत प्रोसेस डेवलप करें


कानपुर (का ० उ ० सम्पादन)। केसीएएस स्टडी सर्किल के द्वारा बीते शनिवार को महफ़िल रेस्टोरेंट में दोपहर से रिपोर्टिंग ऑफ़ रिलेटेड पार्टी रिलेशनशिप अंडर एएस 18, इंड एस 24 और इनकम टैक्स एक्ट एवं सीए के लिए अपरंपरागत प्रैक्टिस के क्षेत्र पर हाफ डे सेमीनार का आयोजन किया गया। संयोजक केसीएएस स्टडी सर्किल सीए ज्ञान प्रकाश गुप्ता ने सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि हम सभी सदस्यों को रिलेटेड पार्टियों से सम्बंधित ट्रांज़ैक्शन पर बड़ी सावधानी से रिपोर्ट करनी चाहिए और हम सदस्यों को प्रैक्टिस के अन्य क्षेत्रों में भी अपनी पार्टी को सलाह देनी चाहिए ताकि वह अपने व्यापार को सुदृढ़ रूप से चला सके। सेमीनार की पहली वक्ता सीए अंजनी खेत्रपाल ने बताया कि हम अपने रिश्तेदारों एवं रिलेटेड पार्टी से जो भी ट्रांज़ैक्शन करते हैं उनको हमें इनकम टैक्स कानून, कंपनी कानून एवं सेवी गाइड लाइन्स के तहत अपनी ऑडिट रिपोर्ट में पूर्ण रूप से रिपोर्ट करना अनिवार्य है क्यूँकि शेयर धारक, बैंक, राजस्व विभाग इन्वेस्टर्स एवं रेगुलेटर्स को कंपनी के बारे में और उसकी फाइनेंसियल स्थिति को जानने में मदद मिलती है जिसके आधार पर वह उस कंपनी में अपने फण्ड को लगाने का निर्णय लेता है। हम सदस्यों की यह जिम्मेदारी है कि इस तरीके के ट्रांज़ैक्शन की रिपोर्टिंग सही एवं पूर्ण रूप से करें। सेमीनार के दुसरे वक्ता सीए नवल कपूर ने बताया कि वर्तमान समय में लगभग जितने भी प्रोफेशनल कार्यों में सीए अपनी सेवाएं दे रहे हैं, वे  कानून के कंप्लायंस के रूप में ही होती है और उनमें वैल्यू एडिशन की कोई संभावना प्रायः नहीं रहती है, इसलिए ये अतिआवश्यक हो गया है कि कुछ ऐसी प्रोफेशनल सेवाओं को विकसित किया जाय जिससे अधिक से अधिक वैल्यू एडिशन क्लाइंट को दिया जा सके। उन्होंने बताया कि यह सीए किसी भी इंडस्ट्री / व्यापार की प्रोसेस स्टडी करें एवं वर्तमान प्रोसेस की कमज़ोर कड़ियों को चिन्हित करके उनको दूर करते हुए एक मजबूत प्रोसेस डेवलप करें, तो क्लाइंट के शुद्ध लाभ एवं व्यापार को बढ़ाया जा सकता है।  हम सदस्यों को अपरंपरागत प्रैक्टिस के क्षेत्र में भी अपनी कमज़ोर कड़ियों को चिन्हित करके उनको दूर करते हुए एक मजबूत प्रोसेस डेवलप करें, तो क्लाइंट के शुद्ध लाभ एवं व्यापार को बढ़ाया जा सकता है। हम सदस्यों को अपरंपरागत प्रैक्टिस के क्षेत्र में भी अपनी पार्टियों को भी सलाह देना चाहिए जिससे व्यापार में हो रहे नुक्सान को रोका जा सके।  अपरंपरागत प्रैक्टिस के क्षेत्र जैसे प्रोडक्शन सॉफ्टवेयर, फ्रॉड डिटेक्शन ऑडिट - अक्सर प्रोसेस की कमायों का लाभ उठाकर कर्मचारी व अन्य लोग माल व डीज़ल की खरीद में, मशीनों की मरम्मत लेवल पेमेंट आदि में फ्रॉड कर सकते हैं जिनको हम उनके सिस्टम के विस्तार से ऑडिट करके उनकी कमायों को दूर करते हुए एक मजबूत सिस्टम लागू करें। हम अपनी पार्टियों को अपने फण्ड इन्वेस्ट करने से पहले उसकी रिस्क एनालिसिस करके उसके लाभ हानि को पहले से बता सकते हैं। इस सत्र के सभापति सीए संजीव टंडन ने कहा कि हम सभी सदस्यों को ऑडिट करते समय सभी कानूनों का पालन करते हुए बिना किसी दबाव के पारदर्शिता के साथ व्यापार की साई स्थिति एवं कमियों को रिपोर्ट करना चाहिए। सभा का संचालन सहसंयोजक सीए अखिलेश तिवारी ने किया। धन्यवाद प्रस्ताव सीए ओम गुप्ता ने दिया। इस अवसर पर सीए सुधीर निगम, सीए शिशिर शुक्ला, सीए दिलीप गुप्ता, सीए सर्वजीत सिंह, सीए वी के माहेश्वरी, सीए राजेश मेहरा, सीए नरेश खट्टर आदि उपस्थित थे।    


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद