जलशक्ति मंत्री आज बांदा में आयोजित दो दिवसीय सेमिनार का करेंगे शुभारम्भ


लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। बुन्देलखण्ड क्षेत्र के चतुर्दिक विकास को गति प्रदान करने के लिए नियोजन विभाग द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आज से दो दिवसीय (10 व 11 जनवरी, 2020) को एक सेमिनार का आयोजन कृषि एवं औद्योगिक विश्वविद्यालय, बांदा में किया जा रहा है। इस सेमिनार में अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों जैसे प्राथमिक, विनिर्माण, सेवा, सामाजिक एवं जल से संबंधित 05 तकनीकी सत्रों में केन्द्र व प्रदेश सरकार के मा0 मंत्रीगण, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, प्रख्यात संस्थानों के शिक्षाविद्, विशेषज्ञ, तथा गैर-सरकारी संगठनों द्वारा प्रतिभाग किया जायेगा। इस दो दिवसीय सेमिनार में गहन विचार-विमर्श के निष्कर्षों के आधार पर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के भावी विकास के लिए प्रभावी रणनीति तैयार की जायेगी। उत्तर प्रेदश के जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह सेमिनार का शुभारम्भ करते हुए बुन्देलखण्ड जल सेक्टर का परिदृश्य, रणनीति तथा टिकाऊ भूजल प्रबंधन पर अपने विचार रखेंगे। डॉ सिंह अगले दिन 11 जनवरी को अपरान्ह इस संगोष्ठी का समापन भी करेंगे। जल क्षेत्र से संबंधित विभिन्न विषयों पर प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन टी वेंकटेश तथा अन्य अभियन्तागण एवं विशेषज्ञ भी अपने विचार रखेंगे। इसके अतिरिक्त जल क्षेत्र विषय पर वरिष्ठ सलाहकार अनिल सिन्हा, वी के निरंजन, मुख्य अभियन्ता परियोजना भी अपने विचार व सुझाव देंगे।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की