मांगें पूरी न होने तक सरकार के खिलाफ संघर्ष जारी रखेंगे माध्यमिक शिक्षक


फर्रुखाबाद (का ० उ ० सम्पादन)। माध्यमिक शिक्षकों ने पुराणी पेंशन बहाली तदर्थ शिक्षकों का विनियमितीकरण तथा शिक्षकों की सेवा सुरक्षा आदि की मांगों के समर्थन में बीते मंगलवार को जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। मुख्यमंत्री जी को मांगों का ज्ञापन डीआईएसओ को दिया गया। माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश आह्वाहन पर शिक्षकों ने सम्मान बचाओ आजीविका बचाओ अभियान के तहत मंगलवार को डीआईओएस कार्यालय पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया।  इस हेतु सभी माध्यमिक शिक्षकों ने एक दिन का सामूहिक अवकाश किया। धरने में मांगें पूरी न होने तक सरकार के खिलाफ संघर्ष जारी रखने का भी ऐलान किया गया। धरने को सम्बोधित करते हुए शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष लालाराम दुबे ने कहा कि शिक्षा सेवा आयोग की धारा 21 व 16 जी की व्यवस्था समाप्त कर सरकार शिक्षकों को सेवा सुरक्षा से वंचित करने का षड्यंत्र रच रही है। जिसे शिक्षक संघ कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। जिला मंत्री नरेंद्र पाल सिंह ने पुरानी पेंशन बहाली तथा तदर्थ शिक्षकों का विनियमितीकरण करे जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षकों का वेतन काम करने का प्रयास कर रही है। शिक्षक नेला सिंह ने कहा कि हम राष्ट्रवादी हैं क्यूकी हम देश का भविष्य बनाते हैं। मौजूदा सरकार अहंकार में शिक्षकों की मांगें नहीं मान रही है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों से मोर्चा लेने वाली सरकार टिक नहीं पायी। शिक्षक संघ के नेताओं ने मुख्य्मंत्री सम्बंधित ज्ञापन डीआईएसओ को सौंपा। जिन्होंने जिला स्टार की समस्याओं का समाधान होने का आश्वासन दिया। धरने में सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई तथा प्रदेश स्तर पर ॐ प्रकाश शर्मा के संघर्ष की सराहना की गई। धरने में सुधाकर चतुर्वेदी, डॉ दिनेश चंद्र, सतेंद्र सिंह, विश्व प्रकाश दीक्षित, नवल कान्त अग्निहोत्री, महेश पाल सिंह, शिव कुमार ओझा ने सम्बोधित कर शिक्षकों की मांगें उठायीं।


Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात्रि 10 बजे से प्रातः 06 बजे तक प्रभावी रखा जाए : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया