मुख्यमंत्री ने दिए अवैध निर्माणों को अभियान चलाकर पूरी सख्ती के साथ ध्वस्त करने के निर्देश


लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अवैध कॉलोनियों तथा वाणिज्यिक व आवासीय भवनों में मानक से अधिक निर्माण के लिए ठोस कंपाउंडिंग नीति (शमन योजना) बनाकर लागू करने के निर्देश दिए हैं। प्रस्तावित योजना को अंतिम रूप देने से पहले उसका प्रचार-प्रसार कर आम नागरिकों से उस पर राय भी मांगी जाएगी। मुख्यमंत्री ने योजना के तहत तय समय में कंपाउंडिग न होने वाले अवैध निर्माणों को अभियान चलाकर पूरी सख्ती के साथ ध्वस्त करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने उन अधिकारियों की जवाबदेही भी तय करने को कहा है जिनके कार्यकाल में अवैध कॉलोनियां बसाई गई हैं। शुक्रवार को लोकभवन में आवास एवं शहरी नियोजन विभाग की प्रस्तावित शमन योजना-2020 का प्रस्तुतीकरण देखने के बाद मुख्यमंत्री ने अलग-अलग टीमें बनाकर अवैध निर्माण चिह्नित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने अवैध निर्माण करने वालों को जानकारी देकर उन्हें खुद अपना अवैध निर्माण ध्वस्त करने का मौका देने को कहा। ऐसा न होने पर उन्होंने विभाग द्वारा निर्माण ध्वस्त कराने और शमन शुल्क वसूलने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने इसके लिए पारदर्शी व्यवस्था बनाने को कहा, ताकि यह कहीं अनैतिक कमाई का जरिया न बन जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि भूतल व दो मंजिलों से ऊपर निर्माण करने वालों को मानक का ध्यान रखते हुए अनुमति दी जाए। सीएम ने मानक से अधिक निर्माण के लिए ठोस कंपाउंडिंग नीति बनाने के दिए निर्देश, सीएम ने कहा, सड़क पर खड़ी गाड़ियों का करें चालान लखनऊ: शुक्रवार को लोक भवन में शमन योजना के प्रस्तुतिकरण के दौरान बैठक करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ' सौजन्य सूचना विभाग अब बटाईदार भी होंगे सीएम कृषक दुर्घटना बीमा के लाभार्थी :- राब्यू, लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री कृषक बीमा योजना का लाभ बटाईदार को भी देने का फैसला किया है। ऐसा पहली बार होगा कि बटाईदार भी सीएम कृषक दुर्घटना बीमा के लाभार्थी होंगे। आंधी-तूफान व भूस्खलन में होने वाली मौत या दुर्घटना भी इस योजना के दायरे में होगी। किसान के बालिग आश्रित (18 वर्ष से 70 वर्ष) को भी इसका लाभ मिलेगा। ऐसे में इस योजना का आकार भी बढ़ गया है। इस योजना के तहत बीमा की अधिकतम राशि पांच लाख रुपये होगी। जिलाधिकारी खुद करें रात में रैन बसेरों का निरीक्षण :- राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ठंड के दौरान हुई बारिश को देखते हुए प्रदेश के सभी नगर निकायों और जिला प्रशासन को गरीबों और निराश्रितों के लिए संचालित रैन बसेरों की लगातार निगरानी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने जिलाधिकारियों को रात्रि भ्रमण कर रैन बसेरों का निरीक्षण करने और वहां सभी सुविधाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ठंड से बचाव के लिए हर हाल में जरूरतमंदों के लिए कंबल और अलाव की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रदेश सरकार अब तक जरूरतमंदों के बीच पांच लाख से अधिक कंबल बांट चुकी है। जिलों में रैन बसेरे स्थापित किये गए हैं। वर्तमान समय में 2500 से अधिक रैन बसेरे संचालित हैं। सामाजिक संगठनों से भी आह्वान किया गया है कि वह जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आयें।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद