राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता स्वयं प्रेरणा स्रोत बनकर सामाजिक जागरूकता को गति प्रदान कर सकते हैं: उपेन्द्र तिवारी

> राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेताओं ने युवा कल्याण मंत्री को भेंट किया स्मृति चिन्ह। 



लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के युवा कल्याण एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने 1985 से लेकर अब तक विभिन्न क्षेत्रों में अपने अतुलनीय प्रयासों से राष्ट्रीय युवा पुरस्कार जीतने वाले उत्तर प्रदेश के विभिन्न विजेताओं से बीते शनिवार लखनऊ स्थित अपने आवास पर भेंट की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता स्वयं के कार्यों से दूसरों को भी प्रेरणा दें और युवाओं को विभिन्न मुद्दों जैसे पर्यावरण सुरक्षा, जल संरक्षण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं, स्वच्छता अभियान, फिट इंडिया मूवमेन्ट एवं वृक्षारोपण आदि कार्यक्रमों के प्रति जागरूक करें। उन्होंने कहा कि किसी भी मुद्दे पर सामाजिक जागरूकता व्यक्ति विशेष का विषय नहीं है, बल्कि इसमें हम सभी को मिलकर आगे बढ़ना होगा और यह कार्य राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता स्वयं प्रेरणा स्रोत बनकर कर सकते हैं। श्री तिवारी ने स्वच्छता कार्यक्रम, टीकाकरण, राष्ट्रीय मतदाता दिवस, जल संरक्षण आदि में अपनी भागीदारी से योगदान देने वाले राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता सर्वश्री सत्यनाथ पाठक, रामनरेश रावत, देवभास्कर पाण्डे, बृजपाल सिंह, राम सिंह सैनी, मोहन सिंह, श्रीमती रंजना त्रिपाठी, श्रीमती सपना सक्सेना, ओमप्रकाश राजपूत, हरकीरत सिंह, सुश्री पूनम विश्नोई, नीरज प्रताप, बृजभूषण त्यागी, हेमन्त कुमार यादव, घनश्याम प्रजापति, कुश कालरा, शुभम मिश्रा, रजत गुप्ता, रोहित कश्यप, मृत्युन्जय द्विवेदी एवं प्रतीश कमार से परिचय प्राप्त कर उनके द्वारा पूर्व एवं वर्तमान में किये जा रहे कार्यों की विस्तार से जानकारी भी प्राप्त की। राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेताओं ने युवा कल्याण मंत्री को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया और सरकार द्वारा सभी विजेताओं को राष्ट्रीय युवा उत्सव में आमंत्रित किये जाने पर प्रसन्नता जताते हुए आभार व्यक्त किया। युवा कल्याण मंत्री ने वार्ता के दौरान राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेताओं से अपील करते हुए कहा कि सभी विजेता अपना अनुभव और अपने सुझाव दें, ताकि युवक एवं महिला मंगल दलों को और बढ़ावा देकर उनको और बेहतर से बेहतर बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि युवा कल्याण विभाग मंगल दलों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य कर रहा है और आवश्यकता है कि राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता युवक एवं महिला मंगल दलों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं में नेतृत्व के गुणों का विकास करने उनमें सांप्रदायिक सौहार्द तथा सामाजिक कार्यों व सेवाओं में रूचि उत्पन्न करने के साथ ही समाज के प्रति संवेदनशील बनायें। राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेताओं से भेंटवार्ता के पश्चात युवा कल्याण मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने आज से प्रारम्भ हो रहे 'राष्ट्रीय युवा उत्सव' के संबंध में पत्रकारों से भी वार्ता की। इस अवसर पर राम नरेश रावत (विधायक बछरावां), अपर मुख्य सचिव, अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव युवा कल्याण श्रीमती डिम्पल वर्मा एवं विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद