परम्परागत फसलों के मुकाबले औद्यानिक फसलें उगाकर किसान अपनी आय तेजी से बढ़ा सकते हैं: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

> मुख्यमंत्री ने प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2020 का उद्घाटन किया।


> प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2020 की स्मारिका का विमोचन।



लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को राजभवन में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2020 का उद्घाटन किया। इस अवसर पर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल भी उपस्थित थीं। राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उद्घाटन अवसर पर राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2020 की स्मारिका का विमोचन भी किया। राजभवन में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी-2020 के भव्य आयोजन के लिए राज्यपाल जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के संकल्प को साकार करने में औद्यानिक फसलों की बड़ी भूमिका है। परम्परागत फसलों के मुकाबले औद्यानिक फसलें उगाकर किसान अपनी आय तेजी से बढ़ा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पॉली हाउस का उपयोग करके हर मौसम की औद्यानिक फसलें उगायी जा रही हैं। किसान तकनीक और आधुनिक साधनों का उपयोग करके औद्यानिक फसलों के माध्यम से कई गुना लाभ अर्जित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मनुष्य के प्रकृति के साथ बेहतर संवाद की दृष्टि से भी यह प्रदर्शनी काफी उपयोगी है। क्योंकि मानव प्रकृति के जितना अधिक निकट रहेगा, उतना अधिक ही तनाव और अवसाद से मुक्त रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई दशकों से राजभवन में प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। किसानों की आमदनी बढ़ाने एवं प्रकृति के प्रति आमजन की रुचि जागृत करने के दृष्टिगत प्रदर्शनी का आयोजन सराहनीय है। राज्यपाल जी द्वारा प्रतिभागियों को आमंत्रित करने, प्रदर्शनी के आयोजन में व्यक्तिगत रुचि लेने के कारण विगत वर्षों के मुकाबले इस वर्ष प्रदर्शनी के कलेवर में बड़ा परिवर्तन आया हैयह परिवर्तन प्रदर्शनी में भाग लेने वाले प्रतिभागियों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा बढ़ाने में सहायक होगा। इससे इस क्षेत्र में कार्य करने वालों को काफी फायदा मिलेगा। कार्यक्रम में उद्यान राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीराम चौहान, मुख्य सचिव आर के तिवारी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव उद्यान बी एल मीणा सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की