ऋषि कपूर के इलाज के लिए नीतू कपूर ने अंबानी फेैमिली को कहा धन्यवाद


मुम्बई (नम्रता शर्मा)। बॉलीवुड के वेटरन एक्टर ऋषि कपूर के जाने से कपूर खानदान पूरी तरह से टूट चुका है। खासकर उनकी पत्नी नीतू कपूर के गम में जीने को मजबूर नीतू ने हाल ही में अंबानी परिवार का शुक्रियादा किया है । दरअसल, इस दुख की घड़ी में अंबानी परिवार कपूर परिवार के कदम से कदम मिलाकर चलते रहे और यहीं वजह है कि नीतू ने इंस्टाग्राम पर लंबा चौड़ा पोस्ट लिखकर उनका धन्यवाद दिया है। मुकेश अंबानी और नीता अंबानी के साथ एक फोटो शेयर करते हुए नीतू ने लिखा- पिछले 2 साल हमारे लिए काफी लंबा समय रहा। इस दौरान हमने अच्छे बुरे दोनों तरह के दिनों का सामना किया। यह सफर काफी उतार-चढ़ाव से भरपूर रहा, लेकिन यह सफर अंबानी परिवार के साथ सहयोग और प्यार के बिना पूरा नहीं हो सकता था। पिछले 2 साल से ही पूरा अंबानी परिवार हमारे साथ साए की तरह खड़ा है और पिछले सात महीनों से तो अंबानी परिवार के हर एक सदस्य ने हमारी हर तरह से मदद की। प्यार दिया और सपोर्ट किया। जब हम अकेले थे डरे हुए थे तो अंबानी परिवार ने हमारा हाथ थामे रखा। नीतू ने सभी के नामों को अपने पोस्ट में मेंशन किया और अंबानी परिवार को एंजल्स बताया। नीतू ने अंबानी परिवार का आभार पूरे कपूर परिवार की तरफ से व्यक्त किया। आपको बता दें इन दिनों नीतू मुसीबत में उनके साथ खड़े हुए हर शख्स का शुक्रिया अदा कर रही हैं। इससे पहले नीतू ने हॉस्पिटल स्टाफ का भी धन्यवाद किया था। हाल ही में नीतू ने इंस्टाग्राम पर हॉस्पिटल स्टाफ और डॉक्टरों के लिए भी पोस्ट जारी कर सभी का आभार व्यक्त किया था। आपको बता दें 30 अप्रैल को ऋषि कपूर ने सुबह 8:45 पर मुंबई के हॉस्पिटल में अपनी आखिरी सांस ली थी और हम सभी को हमेशा हमेशा के लिए अलविदा कह दिया था। पिछले 2 सालों से ऋषि कपूर कैंसर की जंग लड़ रहे थे। हालांकि वो अमेरिका से अपना इलाज करा कर भारत वापस लौट आए थे और कैंसर फ्री हो गए थे, लेकिन अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी उनको हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया और एकाएक वह हम सब को छोड़ कर चले गए। उनके जाने से बॉलीवुड जगत के साथ-साथ पूरे देश भर में शोक की लहर है।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद