सांसद व विधायक निधि से कोविड 19 के तहत जिले में दी गई धनराशि का उपयोग सुनिश्चित किया जाए : प्रभारी मंत्री, मैनपुरी

> जिन श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है उनका भी रजिस्ट्रेशन करा लिया जाए : प्रभारी मंत्री


> मनरेगा में जरूरतमंदों को काम हर हाल में दिया जाए : प्रभारी मंत्री


> मैनपुरी में किसान सम्मान निधि के अंतर्गत पूरी तरह से पात्रों को ही लाभ दिया जाए : प्रभारी मंत्री


> गेहूं क्रय केंद्रों पर पर्याप्त बारदाना उपलब्ध कराने हेतु कार्रवाई की जाए : प्रभारी मंत्री


उप मुख्यमंत्री मैनपुरी में विकास के प्रति संवेदनशील ..


कहा जो समस्याएं शासन स्तर से निस्तारित होनी है, उनके बारे में शासन से पत्राचार करते हुए उसकी एक प्रति उन्हें भी प्रेषित करें ताकि वह इस संबंध में कार्यवाही सुनिश्चित करा सकें।



लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री व जनपद मैनपुरी के प्रभारी मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार 15 मई को जनप्रतिनिधियों तथा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से वेबिनार के जरिए वार्ता करते हुए कोरोना वायरस के दृष्टिगत की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने जनप्रतिनिधियो से कोविड 19 के संकट में दिए जा रहे उनके योगदान के बारे में जानकारी हासिल की तथा कहा कि सभी लोग कोराना वायरस संक्रमण के नियंत्रण में सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि व जिला प्रशासन समन्वय बनाकर काम करें। उन्होंने आबकारी एवं मद्य निषेध मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री, राज्यसभा सदस्य हरनाथ सिंह यादव सहित विधायकों व जनप्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत अभी तक उठाए गए कदमों की जानकारी हासिल की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। श्री मौर्य ने निर्देश दिए कि जिन श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है उनका भी रजिस्ट्रेशन करा लिया जाए। जो बाहर से आए हैं उनकी सूची तत्परता पूर्वक बना ली जाए। राशन वितरण में लापरवाही व घटतौली किसी भी दशा में नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मनरेगा में जरूरतमंदों को काम हर हाल में दिया जाए और काम के बदले भुगतान समय से मिले। उप मुख्यमंत्री ने मैनपुरी में किसान सम्मान निधि भी पूरी तरह से पात्रों को ही लाभ देने के निर्देश दिए और कहा कि किसी अपात्र को लाभ दिया गया तो संबंधित को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे । मैनपुरी की स्वास्थ्य सेवाओं को भी बेहतर बनाने के उन्होंने निर्देश दिए। गेहूं क्रय केंद्रों पर पर्याप्त बारदाना उपलब्ध कराने हेतु कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सांसद व विधायक निधि से कोविड 19 के तहत जिले में जो धनराशि दी गई है, उसका उपयोग सुनिश्चित किया जाए। श्री मौर्य ने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि जो समस्याएं शासन स्तर से निस्तारित होनी है, उनके बारे में शासन से पत्राचार करते हुए उसकी एक प्रति उन्हें भी प्रेषित करें ताकि वह इस संबंध में कार्यवाही सुनिश्चित करा सकें। निर्देश दिए कि मैनपुरी में जितने प्रवासी मजदूर आए हैं, उसकी सूचना भेजी जाए। पात्र लोगों को सभी योजनाओं का लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा की कि जो पैदल प्रवासी श्रमिक आ रहे हैं, उनके लिये 'पैदल यात्री सेवा केंद्र' बनाकर उनके भोजन पानी आदि का प्रबंध सुनिश्चित कराएं।