मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्रिपरिषद द्वारा नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन के निर्णय का स्वागत किया


लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने काॅमन इलिजिबिलिटी टेस्ट संचालित करने के लिए केन्द्रीय मंत्रिपरिषद द्वारा नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन के निर्णय का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को हार्दिक बधाई दी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी देश के युवाओं के जीवन को बेहतर और उज्ज्वल बनाने के लिए निरन्तर प्रयासरत रहते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस व्यवस्था के लागू हो जाने से भारत सरकार के गैर-राजपत्रित श्रेणी तथा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विभिन्न पदों पर चयन के लिए अब अभ्यर्थियों को मात्र एक परीक्षा ही देनी पड़ेगी। इस निर्णय के दूरगामी परिणाम होंगे। अलग-अलग परीक्षाओं के स्थान पर एकल परीक्षा प्रणाली के लागू हो जाने पर विशेष रूप से आर्थिक रूप से कमजोर वर्गाें, दूर-दराज के इलाकों के अभ्यर्थियों के साथ-साथ महिला अभ्यर्थियों को भी बड़ी सुविधा और राहत मिलेगी। इस प्रकार, यह निर्णय ईज़ ऑफ़ रिक्रूटमेंट, ईज़ ऑफ़ सिलेक्शन तथा ईज़ ऑफ़ जाॅब प्लेसमेंट प्रदान करते हुए युवाओं के लिए बेहतर ईज़ ऑफ़ लिविंग का आधार बनेगा। मुख्यमंत्री ने युवा पीढ़ी के हितों को ध्यान में रखकर यह निर्णय लेने के लिए प्रधानमंत्री जी का हृदय से अभिनन्दन करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार भी युवा हित में ऐसा ही निर्णय लेने जा रही है।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की