चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस को उद्घाटन मुकाबले में पांच विकेट से दी शिकस्त

> महेन्द्र सिंह धोनी की एक आईपीएल  कप्तान के तौर पर यह 100वीं  जीत थी, उन्होंने मैच में आईपीएल करियर का 100वां भी लपका।


> मुंबई को टूर्नामेंट के इतिहास में आठवीं बार अपने पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा।


> तेज गेंदबाज दीपक चाहर कोरोना से उबरने के बाद टीम में शामिल हुए थे।


> मुंबई के कप्तान रोहित को पियूष चावला ने सैम करेन के हाथों कैच कराया।


> डू प्लेसिस ने पांड्या का बॉउंड्री पर कैच शानदार अंदाज में लपका।



मैन ऑफ द मैच रायुडू ने 48 गेंदों पर 71 रन की बेहतरीन पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाए, फाफ डू प्लेसिस और अंबाटी रायुडू ने तीसरे विकेट के लिए 115 रन की मैच विजयी साझेदारी की और ड्रीम 11 आईपीएल का अनएकडेमी लेटस क्रैक इट सीक्सेस अवार्ड जीत कर 1 लाख का चेक अपने नाम किया।


अबु धाबी (वार्ता)। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लुंगी एनगिदी (38 रन पर तीन विकेट) के शानदार प्रदर्शन और अंबाटी रायुडू (71) तथा फाफ डू प्लेसिस (नाबाद 58) के बेहतरीन अर्धशतकों से पिछले उपविजेता चेन्नई सुपरकिंग्स ने गत चैंपियन मुंबई इंडियंस को आईपीएल-13 के उद्घाटन मुकाबले में शनिवार को पांच विकेट से शिकस्त दे दी। चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस को 20 ओवर में 9 विकेट पर 162 रन पर रोका और खराब शुरुआत के बावजूद रायुडू और डू प्लेसिस के अर्धशतकों से 19.2 ओवर में पांच विकेट पर 166 रन बनाकर टूर्नामेंट में जीत के साथ शुरुआत कर दी। फाफ डू प्लेसिस और अंबाटी रायुडू ने तीसरे विकेट के लिए 115 रन की मैच विजयी साझेदारी की। चेन्नई ने मुंबई के खिलाफ आईपीएल के 29 मुकाबलों में 12वीं जीत हासिल कर ली। मुंबई को टूर्नामेंट के इतिहास में आठवीं बार अपने पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की शुरुआत खराब रही और उसने पहले दो ओवर में ही 2 विकेट गंवा दिए। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने पहले ओवर में चौका खाने के बाद शेन वाटसन को पगबाधा कर दिया। वाटसन चार रन ही बना सके। जेम्स पेटिनसन ने अगले ओवर में मुरली विजय को पगबाधा कर दिया। विजय एक रन ही बना पाए। फाफ डू प्लेसिस और अंबाटी रायुडू ने तीसरे विकेट के लिए 115 रन की मजबूत साझीदारी की और स्कोर को 121 तक पहुंचा दिया। इस साझदारी से मुंबई के हाथों से मैच निकल गया। रायुडू 16वें ओवर की आखिरी गेंद पर गेंदबाज राहुल चाहर को कैच दे बैठे। रायुडू ने 48 गेंदों पर 71 रन की बेहतरीन पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाए। रवींद्र जडेजा पांच गेंदों में 2 चौकों की मदद से 10 रन बनाकर क्रुणाल पांड्या की गेंद पर पगबाधा हो गए। सैम करेन ने आने के साथ ही छह गेंदों में 18 रन ठोक दिए। करेन ने 1  चौका और 2 छक्के लगाए। करेन का विकेट 153 के स्कोर पर गिरा। डू प्लेसिस एक छोर संभाल कर टिके हुए थे। करेन का विकेट गिरने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर उतरे। लेकिन तब तक बाजी चेन्नई के हाथों में आ चुकी थी। डू प्लेसिस ने आखिरी ओवर में ट्रेंट बोल्ट की पहली दो गेंदों पर चौके लगाकर मैच समाप्त कर दिया। डू प्लेसिस ने 44 गेंदों पर नाबाद 58 रन में छह चौके लगाए। इससे पहले मुंबई ने पहले चार ओवर में बिना कोई विकेट खोये 45 रन ठोक दिए थे लेकिन चेन्नई के गेंदबाजों ने इसके बाद शानदार वापसी की। मुंबई की टीम अगले 16 ओवर में 117 रन ही जोड़ सकी। मुंबई की तरफ से सौरभ तिवारी ने सर्वाधिक 42 रन और ओपनर क्विंटन डी कॉक ने 33 रन बनाये। चेन्नई की तरफ से एनगिदी ने 38 रन पर 3  विकेट, दीपक चाहर ने 32 रन पर 2 विकेट और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 42 रन पर 2 विकेट लिए जबकि लेग स्पिनर पीयूष चावला और सैम करेन को 1 - 1 विकेट मिला। चावला ने चार ओवर में मात्र 21 रन दिए। आईपीएल के उद्घाटन मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। दर्शकों के बिना खेले जा रहे आईपीएल की पहली गेंद डाल रहे थे तेज गेंदबाज दीपक चाहर जो कोरोना से उबरने के बाद टीम में शामिल हुए थे। उनके सामने थे मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा। रोहित ने पहली ही गेंद पर कवर में चौका जड़ दिया। रोहित के साथी क्विंटन डी कॉक ने चौथी गेंद पर चौका मारा और पहले ओवर में 12 रन बने। रोहित ने दूसरे ओवर में सैम करेन पर चौका मारा जबकि डी कॉक ने तीसरे ओवर में चाहर पर चौका और चौथे ओवर में लुंगी एनगिदी की गेंदों पर तीन चौके जड़े। एनगिदी के इस ओवर में 18 रन गए। मुंबई ने चार ओवर में 45 रन ठोक डाले थे। धोनी ने पांचवें ओवर में लेग स्पिनर पीयूष चावला को आक्रमण पर लगाया और चावला ने चौथी गेंद पर मुंबई के कप्तान रोहित को सैम करेन के हाथों कैच करा दिया। रोहित ने 10 गेंदों में 2 चौकों की मदद से 12 रन बनाये। करेन ने अगले ओवर में डी कॉक को शेन वाटसन के हाथों कैच कराकर मुंबई को दूसरा झटका दे दिया। डी कॉक ने 20 गेंदों में 5 चौकों की मदद से 33 रन बनाये। इन दो विकेटों ने मुंबई पर कुछ अंकुश लगा दिया। सौरभ तिवारी और सूर्यकुमार यादव ने तीसरे विकेट के लिए 44 रन की साझेदारी की। चाहर ने 92 के स्कोर पर सूर्य को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। सूर्य ने 16 गेंदों पर 17 रन में दो चौके लगाए। लम्बे समय बाद मैदान पर वापसी कर रहे आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने मैदान पर आने के बाद लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा के पारी के 12वें ओवर में लगातार 2 छक्के मारे। सौरभ तिवारी ने 31 गेंदों पर 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 42 रन की पारी खेली। तिवारी और पांड्या 15वें ओवर में जडेजा का शिकार बने। दोनों बल्लेबाजों के कैच फाफ डू प्लेसिस ने लपके। डू प्लेसिस ने पांड्या का बॉउंड्री पर कैच शानदार अंदाज में लपका। पांड्या ने 10 गेंदों पर दो छक्कों की मदद से 14 रन बनाये। कीरोन पोलार्ड ने 16वें ओवर में चावला पर चौका जमाया। लुंगी एनगिदी ने अगले ओवर की पहली गेंद पर क्रुणाल पांड्या को विकेटकीपर धोनी के हाथों कैच करा दिया। क्रुणाल तीन रन ही बना सके। जेम्स पेटिनसन ने 18वें ओवर में सैम करेन पर चौका लगाया और इस ओवर की पैरों पर पड़ी चौथी गेंद को लेग साइड में चौके के लिए निकाल दिया। 18 ओवर की समाप्ति के बाद मुंबई का स्कोर 151 रन पहुंच चुका था। एनगिदी ने 19वें ओवर की पहली गेंद पर पोलार्ड की पारी का अंत कर दिया। पोलार्ड का कैच विकेट के पीछे धोनी के हाथों में गया। पोलार्ड ने 14 गेंदों पर 18 रन बनाये। एन गिदी ने इसी ओवर में पेटिनसन को भी आउट कर दिया। पेटिनसन ने आठ गेंदों पर 11 रन बनाये। चाहर ने 20वें ओवर की पहली गेंद पर ट्रेंट बोल्ट को बोल्ड कर दिया। मुंबई की टीम 162 तक पहुंच सकी। जसप्रीत बुमराह पांच रन पर नाबाद रहे। लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की शुरुआत खराब रही और उसने पहले दो ओवर में ही दो विकेट गंवा दिए। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने पहले ओवर में चौका खाने के बाद शेन वाटसन को पगबाधा कर दिया। वाटसन चार रन ही बना सके। जेम्स पेटिनसन ने अगले ओवर में मुरली विजय को पगबाधा कर दिया। विजय एक रन ही बना पाए। फाफ डू प्लेसिस और अंबाटी रायुडू ने तीसरे विकेट के लिए 115 रन की मजबूत साझीदारी की और स्कोर को 121 तक पहुंचा दिया। इस साझदारी से मुंबई के हाथों से मैच निकल गया। रायुडू 16वें ओवर की आखिरी गेंद पर गेंदबाज राहुल चाहर को कैच दे बैठे। रायुडू ने 48 गेंदों पर 71 रन की बेहतरीन पारी में 6 चौके और 3 छक्के लगाए। रवींद्र जडेजा पांच गेंदों में 2 चौकों की मदद से 10 रन बनाकर क्रुणाल पांड्या की गेंद पर पगबाधा हो गए। सैम करेन ने आने के साथ ही छह गेंदों में 18 रन ठोक दिए। करेन 1 चौका और 2 छक्के लगाए। करेन का विकेट 153 के स्कोर पर गिरा। डू प्लेसिस एक छोर संभाल कर टिके हुए थे। करेन का विकेट गिरने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर उतरे। लेकिन तब तक बाजी चेन्नई के हाथों में आ चुकी थी। डू प्लेसिस ने आखिरी ओवर में ट्रेंट बोल्ट की पहली दो गेंदों पर चौके लगाकर मैच समाप्त कर दिया। डू प्लेसिस ने 44 गेंदों पर नाबाद 58 रन में छह चौके लगाए।