समस्त जनपदों में आंगनबाड़ी केन्द्रों पर अनुपूरक पोषाहार का उत्पादन एवं आपूर्ति राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों द्वारा होगा


लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में उनके सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा सम्पन्न मंत्रिपरिषद की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए जिनमें मंत्रिपरिषद ने प्रदेश के समस्त जनपदों में आंगनबाड़ी / मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर अनुपूरक पुष्टाहार (टेकहोम राशन तथा मॉर्निंग स्नैक्स) की आपूर्ति हेतु अनुपूरक पोषाहार का उत्पादन एवं आपूर्ति राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों द्वारा किये जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। इसके लिए बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग तथा उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के मध्य एमओयू का निष्पादन कर तद्नुसार योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा। अनुमोदन के समय से अन्तर्विभागीय समिति द्वारा एसओपी का निर्धारण कर 04 से 06 सप्ताह के भीतर संचालन प्रारम्भ कर दिया जाएगा। इस प्रस्ताव पर प्रतिवर्ष कुल 4190.62 करोड़ रुपये का व्यय सम्भावित है। योजना के अन्तर्गत केन्द्र एवं राज्य सरकार का अंश 50 : 50 प्रतिशत है। इस प्रकार प्रतिवर्ष राज्य सरकार पर कुल 2095.31 करोड़ रुपये का व्ययभार आएगा। इस निर्णय से योजना में आच्छादित लाभार्थी वर्ग यथा 06 माह से 06 वर्ष आयु के बच्चे, गर्भवती / धात्री महिलाएं एवं 11 से 14 वर्ष आयु की स्कूल न जाने वाली किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर में सुधार होगा। प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से वितरित होने वाले अनुपूरक पोषाहार का उत्पादन एवं आपूर्ति स्वयं सहायता समूहों द्वारा किये जाने से स्थानीय महिलाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। इसके फलस्वरूप महिला सशक्तिकरण एवं स्वावलम्बन को बल मिलेगा तथा स्थानीय उत्पादों की खपत भी होगी।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की