'उ0प्र0 भूगर्भ जल (प्रबन्धन और विनियमन) संशोधन विधेयक, 2020' का प्रारूप स्वीकृत

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में उनके सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा सम्पन्न मंत्रिपरिषद की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए जिनमें मंत्रिपरिषद ने 'उत्तर प्रदेश भूगर्भ जल (प्रबन्धन और विनियमन) अधिनियम, 2019' में संशोधन किये जाने हेतु 'उत्तर प्रदेश भूगर्भ जल (प्रबन्धन और विनियमन) संशोधन विधेयक, 2020' के प्रारूप तथा अधिनियम में प्रस्तावित संशोधन को यथाप्रक्रिया राज्य विधानमण्डल से पारित कराये जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। ज्ञातव्य है कि प्रदेश सरकार भूजल प्रबन्धन एवं संरक्षण हेतु प्रतिबद्ध है। इस दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए राज्य सरकार द्वारा प्रदेश की स्थानीय आवश्यकताओं एवं भूगर्भ जल परिस्थितियों के अनुरूप 'उत्तर प्रदेश भूगर्भ जल (प्रबन्धन और विनियमन) अधिनियम, 2019' प्रख्यापित किया गया था। यह अधिनियम 02 अक्टूबर, 2019 से लागू है। अधिनियम के प्राविधानों के समुचित क्रियान्वयन हेतु विभिन्न स्तरों पर समितियों के गठन की कार्यवाही पूर्ण की जा चुकी है। अधिनियम को और स्पष्ट एवं जनसुलभ बनाने के लिए मंत्रिपरिषद द्वारा कतिपय संशोधन करने का निर्णय लिया गया है।