फसल अवशेष गौशाला को दान करें किसान : जिलाधिकारी

> मा राष्ट्रीय हरित अधिकरण के आदेश से फसल अवशेष जलाना दंडनीय अपराध है।

 

उन्नाव (सूचना विभाग)। जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार के निर्देश पर किसानों को जागरुक करने के लिए व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जा रहा है। वर्ष 2019 - 20 में 26 ग्राम पंचायतों में 54 फसल अवशेष जलाने की घटनाएं संज्ञान में आई थीं। इन सभी ग्रामों में ग्राम पंचायत स्तरीय गोष्ठी का आयोजन किया गया है। जनपद स्तर तथा ब्लॉक स्तर पर भी जागरुकता गोष्ठी आयोजित की गई है। डुग्गी पिटवा कर एवं प्रचार प्रसार वाहन से किसानों को सूचित किया जा रहा है कि फसल अवशेष न जलाएं नहीं तो जुर्माना तथा एफआईआर होगी। अन्य योजनाओं के लाभ से भी वंचित होना पड़ सकता है। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि किसान गौशाला को फसल अवशेष दान करें l उप कृषि निदेशक ने रविवार 11 अक्टूबर को क्षेत्र में भ्रमण किया। गंज मुरादाबाद ब्लॉक के ग्राम गंभीर पुर में किसानों को गोष्ठी में प्रेरित किया और तीन ट्राली फसल अवशेष गोसा कुतुब गौशाला को दान स्वरूप पहुंचाया गया। देखते ही देखते गाय चारे पर टूट पड़ी। यह बहुत सराहनीय प्रयास किया गया। आज जनपद में अलग अलग गौशालाओं में 11 ट्राली 154 कुंटल फसल अवशेष किसानों को प्रेरित कर पहुंचाया गया। उप कृषि निदेशक ने बताया कि यह अभियान निरन्तर रबी फसल की बुआई तक चलेगा। जनपद के किसानों से अपील की कि किसी भी दशा में फसल अवशेष में आग न लगाएं। सैटेलाइट से भी 24 घण्टे निगरानी की जा रही है।

Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

मुख्यमंत्री आज होम गार्ड्स स्थापना दिवस के अवसर पर रैतिक परेड में सम्मिलित होंगे

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित