सनराइजर्स हैदराबाद ने किंग्स इलेवन पंजाब को 69 रनों से हराया
> पंजाब के निकोलस पूरन ने नौंवें ओवर में लेग स्पिनर अब्दुल समद की गेंदों पर 6, 4, 6, 6, 6 लगाकर 28 रन बटोरे और इस आईपीएल का सबसे तेज अर्धशतक पूरा किया।

 

> हैदराबाद की तरफ से बेयरस्टो ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और 55 गेंदों पर 97 रन में सात चौके और छह छक्के लगाए।

 

> हैदराबाद की तरफ से वार्नर ने 40 गेंदों पर 52 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

 

> हैदराबाद की तरफ से प्रियम गर्ग का खाता नहीं खोल पाए।

 

> पंजाब के बिश्नोई ने 29 रन पर तीन विकेट, अर्शदीप ने 33 रन पर दो विकेट और शमी ने 40 रन पर एक विकेट लिया।

 


सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच ड्रीम 11 आईपीएल के सीज़न 13 के मैच 22 के दौरान मैन ऑफ द मैच का खिताब जॉनी बेयरस्टो ने जीता।

दुबई (वार्ता)। सलामी बल्लेबाजों जानी बेयरस्टो (97) और डेविड वार्नर (52) के शानदार अर्धशतकों तथा उनके बीच 160 रन की ओपनिंग साझेदारी के बाद करिश्माई लेग स्पिनर राशिद खान (12 रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद ने किंग्स इलेवन पंजाब को गुरूवार को आईपीएल मुकाबले में 69 रन से पीट दिया। हैदराबाद ने 20 ओवर में छह विकेट पर 201 रन का मजबूत स्कोर बनाया और पंजाब को 16.5 ओवर में 132 रन पर निपटाकर छह मैचों में तीसरी जीत दर्ज की जबकि पंजाब को छह मैचों में पांचवीं हार का सामना करना पड़ा। हैदराबाद की टीम इस जीत के बाद तालिका में तीसरे स्थान पर पहुंच गयी है। पंजाब आठवें स्थान पर है और उसकी आगे की राह बेहद मुश्किल हो गयी है। सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ओपनिंग साझेदारी के दम पर हैदराबाद एक समय 225 के स्कोर तक जाता दिखाई दे रहा था लेकिन यह साझेदारी टूटने के बाद पंजाब ने वापसी करते हुए हैदराबाद को 201 तक रोक लिया। लेकिन पंजाब के लिए यह स्कोर अंत में काफी बड़ा साबित हुआ। बेयरस्टो ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और 55 गेंदों पर 97 रन में सात चौके और छह छक्के लगाए जबकि वार्नर ने 40 गेंदों पर 52 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया। 20 वर्षीय लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने कमाल की गेंदबाजी करते हुए तीन विकेट निकाले। बिश्नोई ने 16वें ओवर की पहली गेंद पर वार्नर और चौथी गेंद पर बेयरस्टो को आउट किया। बेयरस्टो पगबाधा हुए। अर्शदीप सिंह ने मनीष पांडेय और प्रियम गर्ग के विकेट लिए जबकि बिश्नोई ने अब्दुल समद को आउट किया। समद ने आठ रन बनाये। पांडेय एक रन ही बना सके और गर्ग का खाता नहीं खुला। हैदराबाद ने 15 रन के अंतराल में पांच विकेट गंवाए। लेकिन केन विलियम्सन और अभिषेक शर्मा ने अंतिम दो ओवरों में कुछ जोरदार शॉट खेलते हुए टीम को 200 के पार पहुंचा दिया। अभिषेक छह गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 12 रन बनाकर पारी के आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर 199 के स्कोर पर आउट हुए। उन्हें मोहम्मद शमी ने आउट किया। विलियम्सन ने आखिरी गेंद पर दो रन लेकर हैदराबाद को 201 तक पहुंचा दिया। विलियम्सन ने 10 गेंदों पर नाबाद 20 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया। बिश्नोई ने 29 रन पर तीन विकेट, अर्शदीप ने 33 रन पर दो विकेट और शमी ने 40 रन पर एक विकेट लिया। लक्ष्य का पीछा करते पंजाब के बल्लेबाज एक छोर से विकेट गंवाते रहे जबकि निकोलस पूरन दूसरे छोर से रन बटोर कर पंजाब की उम्मीदों को कायम रखते रहे। चौथे नंबर पर उतरे पूरन ने बेहतरीन शॉट्स लगाए। उन्होंने नौंवें ओवर में लेग स्पिनर अब्दुल समद की गेंदों पर 6, 4, 6, 6, 6 लगाकर 28 रन बटोरे और इस आईपीएल का सबसे तेज अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 17 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। पूरन को लेग स्पिनर राशिद खान ने आउट कर हैदराबाद की जीत सुनिश्चित कर दी। पूरन सातवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। पूरन ने 37 गेंदों पर 77 रन में पांच चौके और सात छक्के लगाए। मयंक अग्रवाल नौ रन बनाकर रन आउट हुए जबकि कप्तान लोकेश राहुल 11, सिमरन सिंह 11, ग्लेन मैक्सवेल सात, मनदीप सिंह छह और मुजीब उर रहमान एक रन बनाकर आउट हुए। मैक्सवेल भी रन आउट हुए। राशिद ने पूरन के अलावा मनदीप और मोहम्मद शमी का विकेट लिया। राशिद ने चार ओवर में मात्र 12 रन देकर तीन विकेट लेकर पंजाब की कमर तोड़ दी। खलील अहमद और टी नटराजन ने दो-दो विकेट लिए जबकि अभिषेक शर्मा को एक विकेट मिला। हैदराबाद की टीम ने इस मुकाबले के लिए सिद्धार्थ कौल की जगह खलील अहमद को शामिल किया था। पंजाब की टीम में तीन बदलाव हुए थे। हरप्रीत बरार, क्रिस जॉडर्न और सरफराज खान की जगह सिमरन सिंह, अर्शदीप सिंह और मुजीब-उर-रहमान को अंतिम एकदाश शामिल किया लेकिन इतने बदलाव का पंजाब को कोई फायदा नहीं हुआ।