अच्छे राजमार्ग विकास एवं अर्थव्यवस्था की धुरी होते हैं : योगी आदित्यनाथ

आजादी के बाद 65 वर्षों में जितने राजमार्ग बने, उससे अधिक पिछले 06 वर्षों में बने



उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 26 नवंबर, 2020 को गोरखपुर में वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा सूक्ष्म, लघु और माध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी सड़क परियोजनाओं के ऑनलाइन लोकार्पण, शिलान्यास व कार्य शुभारम्भ के अवसर पर।


लोकार्पित परियोजनाएं -


> 866 करोड़ रुपए की लगत से 17.66 कि मी लम्बा गोरखपुर बाईपास (जंगल कौड़िया) राष्ट्रीय राजमार्ग-24 से कालेसर राष्ट्रीय राजमार्ग-27 तक के फोरलेन निर्माण कार्य।


> 33.52 करोड़ रुपए की लगत से जनपद गोरखपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 227 ए पर 9.00 कि मी सिकरीगंज और गोला के बीच चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य।


> कानपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग - 91 के लेबल क्राॅसिंग संख्या - 79डी (सीओडी क्राॅसिंग) पर आरओबी का निर्माण कार्य।


> राष्ट्रीय राजमार्ग - 235 का मेरठ से बुलन्दशहर फोरलेन चैड़ीकरण का कार्य।


> महोबा एवं बांदा के अन्तर्गत कबरई से बांदा खण्ड तक राष्ट्रीय राजमार्ग - 76 के चैड़ीकरण एवं उन्नयन का कार्य।


> चित्रकूट एवं प्रयागराज के अन्तर्गत मऊ से जसरा खण्ड तक राष्ट्रीय राजमार्ग - 76 के चैड़ीकरण एवं उन्नयन का कार्य।


> प्रतापगढ़ से प्रयागराज बाईपास खण्ड तक राष्ट्रीय राजमार्ग - 96 के फोरलेन चैड़ीकरण एवं उन्नयन का कार्य।


> सिद्धार्थनगर के अन्तर्गत बढ़नी से कटया चैक खण्ड तक राष्ट्रीय राजमार्ग - 730 के चैड़ीकरण एवं उन्नयन का कार्य।


> बहराइच एवं श्रावस्ती के अन्तर्गत बहराइच से श्रावस्ती खण्ड तक राष्ट्रीय राजमार्ग - 730 के चैड़ीकरण एवं उन्नयन का कार्य।


शिलान्यास की गई परियोजनाएं -


> इटावा एवं औरैया के अन्तर्गत भरथना चैक से कुदरकोट मार्ग तक राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 91ए (234) के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य।


> प्रयागराज में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 135 सी के रामपुर से भडेवरा मार्ग तक के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य।


> मिर्जापुर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 135 सी के ड्रमण्डगंज से हलिया मार्ग तक का चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य।


> सोनभद्र में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 75 ई के म प्र / उ प्र बाॅर्डर से शुरू होकर सोनभद्र होते हुए उत्तर प्रदेश / झारखण्ड सीमा तक के 65 किमी एवं 27 किमी सुदृढ़ीकरण कार्य।


> कुशीनगर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 730 के तमकुहीराज और पडरौना के बीच में मार्ग चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के कार्य का शिलान्यास शामिल है।


कार्य शुभारम्भ -


प्रयागराज में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या - 96 (330) पर फाफामऊ में गंगा नदी पर बने सेतु के समानान्तर नये 6 लेन सेतु एवं पहुंच मार्ग के निर्माण कार्य का शुभारम्भ किया गया।


 


दैनिक कानपुर उजाला


लखनऊ। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग एवं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार 26 नवंबर को उत्तर प्रदेश के लिए एनएचएआई की 7,477 करोड़ रुपए की लागत की 505 कि मी लम्बी 16 सड़क परियोजनाओं का आनलाइन लोकार्पण / शिलान्यास व कार्य शुभारम्भ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने की। मुख्यमंत्री जनपद गोरखपुर से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर 08 परियोजनाओं का लोकार्पण, 07 परियोजनाओं का शिलान्यास एवं 01 परियोजना के कार्य का शुभारम्भ किया गया। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी का स्वागत करते हुए उनके प्रति आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री  ने कहा कि कोरोना काल में प्रदेश के विकास हेतु राजमार्गों को बेहतर करने की दिशा में आज 16 परियोजनाओं का लोकार्पण, शिलान्यास एवं कार्य शुभारम्भ किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद 65 वर्षों में जितने राजमार्ग बने, उससे अधिक पिछले 06 वर्षों में बने। इसके लिए उन्होंने केन्द्र सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया। केन्द्र सरकार के प्रयासों से आज देश का कोई भी ऐसा जनपद / भू-भाग नहीं है, जहां सड़क परिवहन की सुविधा न पहुंची हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज प्रदेश में विकास कार्यों की नई गति दिखाई दे रही है। अच्छे राजमार्ग विकास एवं अर्थव्यवस्था की धुरी होते हैं। राजमार्ग प्रदेश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाइयों पर ले जाने का प्रभावी माध्यम है। देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में सड़क विकास काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए निरन्तर कार्य किया जा रहा है। इस अवसर पर केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अपने सम्बोधन में कहा कि उत्तर प्रदेश मजबूत कनेक्टिविटी से विकास के पथ पर अग्रसर है। इससे प्रदेश की तस्वीर बदल रही है। सड़कों के विस्तारीकरण से प्रदेश में उद्योग एवं रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। पिछड़े क्षेत्रों का विकास सरकार की प्राथमिकता है, इस दिशा में निरन्तर कार्य जारी है। प्रदेश में राजमार्गों के विकास के लिए धन की कमी आड़े नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि सभी कार्य समयबद्ध ढंग एवं गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूर्ण किए जाएं। कार्यक्रम को केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल (डाॅ) वी के सिंह (सेवानिवृत्त) तथा प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी सम्बोधित किया। प्रमुख सचिव लोक निर्माण नितिन रमेश गोकर्ण ने आभार ज्ञापित किया। इस अवसर पर सांसद, विधायकगण सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।